Home / aadhar card / अगर आधार आवेदन कार्ड आवेदन निरस्त हो जाए | If Aadhar card form rejected in Hindi

अगर आधार आवेदन कार्ड आवेदन निरस्त हो जाए | If Aadhar card form rejected in Hindi

Aadhar cardवैसे भारत में लोग सिर्फ अच्छा सोचकर ही घर से निकलते हैं। लोगों को लगता है कि उनके साथ कभी कुछ गलत नहीं होगा। इसीलिए वे कार में सीटबेल्ट नहीं लगाते और बाइक को बिना हेलमेट पहने चलाते हैं। और तो और हेल्थ इंश्योरेंस भी नहीं रखते। जब भारत के लोग भाग्य में इतना भरोसा करते हैं तो वे आधार कार्ड आवेदन करते समय भी यह नहीं सोचेंगे कि कुछ गलत हो सकता है। वे फार्म भरेंगे, बायोमेट्रिक निशान देंगे और चैन की नींद सोने लगेंगे। आपको जानकर हैरत होगी कि आधार के लिए आवेदन करने वाले 10 में से एक व्यक्ति का फार्म रिजेक्ट हो जाता है। फार्म रिजेक्ट होने की कई वजहें हो सकती हैं। अगर आपका भी फार्म रिजेक्ट हो जाए तो क्या करेंगे? जवाब आपको पक्का पता नहीं होगा।

आपने कभी यह सोचा नहीं होगा कि फार्म रिजेक्ट भी हो सकता है। इसलिए तैयारी भी कुछ नहीं की होगी। फिलहाल बहुत परेशान होने की जरूरत नहीं है। किसी के साथ भी ऐसा हो सकता है। ऐसे में दो चीजें करें। पहली यह कि घबराएं नहीं और फालतू की भागदौड़ न करें। आप आसानी से आधार के लिए दोबारा आवेदन कर सकते हैं। इसका भी एक तरीका है जिसके बारे में हम आपको आगे बताएंगे। पहले यह जान लीजिए कि फार्म रिजेक्ट किस वजह से होते हैं।

चार वजहें होती हैं | There are four reasons

आधार कार्ड को जारी करने के पहले फार्म, बायोमेट्रिक निशान के साथ आपके द्वारा लगाए गए पहचान, पते व जन्म तिथि के प्रमाण पत्र की बारीकी से जांच होती है। जांच इतनी गहराई के साथ होती है जिसकी आप कल्पना भी नहीं कर सकते। सिर्फ जांच के कारण ही आधार कार्ड को तैयार होने में तीन महीने का वक्त लग सकता है। फार्म तीन वजहों से रिजेक्ट हो सकते हैं। पहला है फार्म में कोई गलती हो गइ हो। दूसरा है कि उंगलियों के निशान व रेटिना स्कैनिंग में कोई गड़बड़ी हो गई हो और तीसरा है प्रमाण पत्रों व फार्म में दी गई जानकारियों का मेल न खाना। चौथा है कि आपका फार्म व उसके साथ लगाए गए दस्तावेज यूआईडीएआई को मिले ही न हों।

घर के पते पर दी जाती है जानकारी | Information is given at home address

अगर आपका फार्म रिजेक्ट होगा तो यूआईडीएआई आपको इसकी सूचना स्पीड पोस्ट के जरिए देगा। आपके द्वारा फार्म में दिए गए पते पर एक पत्र भेजा जाएगा। इसमें लिखा होगा कि आपका फार्म क्यों रिजेक्ट किया गया है। अगर फार्म पहुंचा ही नहीं तो आपके पास लोकर लेटर भी नहीं आएगा। ऐसे में आप क्या करेंगे? बताइए-बताइए। अगर आपने फार्म जमा करने के पहले इसका फोटो स्टेट करवाया होगा तो आपकी समझ में आ जाएगा कि गलती कहां हुई है। फार्म रिजेक्ट होने के कारण दो कारणों के लिए आप जिम्मेदार होते हैं तो दो की वजह यूआईडीएआई का प्रतिनिधि हो सकता है। अगर उसने सही तरीके से बायोमेट्रिक निशान नहीं लिए होंगे तो दिक्त हो सकती है।

फिर से करना पड़ेगा आवेदन | Application to be done again

एक बार फार्म के रिजेक्ट हो जाने पर आपको पूरी प्रक्रिया फिर से दोहरानी होगी। पुराने आवेदन को फिर से दुरुस्त करने का आपको मौका नहीं मिलेगा। क्योंकि फार्म रिजेक्ट होने के बाद इसे सीधे कूड़ेदान में फेंक दिया जाता है। सबसे पहले आप यूआईडीएआई की वेबसाइट पर जाएं और आधार फार्म को डाउनलोड कर लें। अब फिर से गलती न हो जाए, इसलिए फार्म को अच्छी से भरें। आप हिंदी या अंग्रेजी दोनों में से किसी एक भाषा का चुनाव कर सकते हैं। खास बात यह है कि अगर आप फार्म अंग्रेजी में भरते हैं तो उसके अक्षर कैपिटल में लिखें। आप फार्म भरने का आइडिया इंटरनेट से भी ले सकते हैं। फार्म भरने की तरकीब आपको यू ट्यूब पर भी मिल सकती है। अगर तब भी कुछ समझ में नहीं आ रहा है तो अपने निकट के इनरोलमेंट केंद्र या जन सुविधा केंद्र पर चले जाएं। वहां पर आपकी यूआईडीएआई के प्रतिनिधि फार्म भरने में मदद कर देंगे।

aadhar cardप्रमाण पत्र सही लगाएं | Only real document attach

इस बात का ख्याल रखें कि आपने जो प्रमाण पत्र लगाए हैं, वह सही हों। हम यह नहीं कहना चाहते कि आप फर्जी प्रमाण पत्र लगा रहे हैं। हमारे कहने का मतलब यह है कि प्रमाण पत्र में और फार्म में दी गई जानकारियों में कोई अंतर न हो। ऐसा हो सकता है कि पते, पहचान या जन्मतिथि के लिए आप जो प्रमाण पत्र लगा रहे हों, उसी में कोई गलती हो। जैसे आपके प्रमाण पत्र में पिता का पूरा नाम लिखा हो और आपने आधार फार्म में शार्ट नेम का इस्तेमाल कर दिया हो। ऐसा आप फिर से करेंगे तो फार्म के रिजेक्ट होने की संभावना बनी रहेगी। आप ऐसे ही डॉक्यूमेंट्स लगाएं जो फार्म में दी गई जानकारी को सपोर्ट करते हों।

पता चेंज हो गया है तो इसे सही कराएं | If address has changed, then correct it

अधिकांश लोगों के फार्म इस वजह से रिजेक्ट होते हैं क्योंकि उन्होंने जो फार्म में जो पता दर्ज कराया होता है, वहां वे मिलते नहीं हैं। अधिकतर लोगों के साथ होता यह है कि उनका अस्थाई पता बदलता रहता है। वे इसे प्रमाण पत्र में दुरुस्त नहीं कराते। वे दूसरी जगह रहने चले जाते हैं और फार्म में गलत पता भर देते हैं। इस वजह से उनका फार्म रिजेक्ट होता है। अगर आपका पता बदल गया है तो उस दस्तावेज को सही करा लें जिसे आप पते के प्रमाण पत्र के रूप में जमा कर रहे हों।

फिर से लिया जाएगा बायोमेट्रिक निशान | Biometric traces will be taken again

दोबारा फार्म जमा करने के बाद आपकी फिर से वेबकैम से फोटो ली जाएगी और बायोमेट्रिक निशान भी लिए जाएंगे। आप ध्यान रखें कि यूआईडीएआई का प्रतिनिधि आपकी सभी 10 उंगलियों के निशान ले। अगर उसने एक भी उंगली को छोड़ दिया तो फार्म के रिजेक्ट होने की यह वजह बन सकती हैं। आपकी दोनों आंखों के रेटिना को फिर से स्कैन किया जाएगा। अगर उंगलियों के निशान ठीक से नहीं आ रहे हैं तो आप इसको साफ पानी से धो लें और कपड़े से रगड़ लें। ध्यान रखें कि अगर उंगलियों पर जरा सी भी चिकनाई होगी तो निशान ठीक से नहीं आएंगे और आपका फार्म एक बार और रिजेक्ट हो सकता है।

चेक करवा लें फार्म | Form check properly

आप नामांकन केंद्र पर जाएं तो अपने फार्म को यूआईडीएआई प्रतिनिधि को फिर से सौंप दें। कहें कि वह इसे चेक करके बताए कि इसमें कोई गलती तो नहीं हैं। अगर प्रतिनिधि टालमटोल करे या सहयोग न करे तो आप हायर एथारिटी से वेबसाइट पर एसएमएस के जरिए भी शिकायत कर सकते हैं। प्रतिनिधि की जिम्मेदारी है कि वह आपकी सही तरीके से फार्म भरने में मदद करे। अगर फार्म भरते वक्त कोई गलती हो जाती है तो उसमें काटपीट बिल्कुल भी न करें। फिर से नया फार्म लें और सावधानी के साथ इसे दोबारा भर दें।

aadhar card statusपर्ची लेना न भूलें | Do not miss receiving slip

जब आप दोबारा फार्म जमा करें तो इसकी रिसीविंग न भूलें। जब तक आधार कार्ड आपके हाथ में नहीं आ जाता, यह पर्ची आपके बहुत काम आएगी। इस पर्ची में फार्म जमा करने की तारीख, समय और आपकी तस्वीर होती है। आप इसी पर्ची पर दिए गए नामांकन नंबर के जरिए आधार कार्ड का स्टेटस यूआईडीएआई की वेबसाइट पर चेक कर सकेंगे। जब तक आधार नंबर का मैसेज आपके मोबाइल पर न आ जाए, इस पर्ची को हाथ से जाने न दें। यह पर्ची आपकी डुप्लीकेट आधार कार्ड को प्रिंट करने में भी मदद करेगी।

इन डाक्यमेंट्स को लगाएं | Attach these documents

आपको वैसे तो कई बार बताया जा चुका है कि आधार कार्ड के लिए कौन-कौन से डॉक्यमेंट लगा सकते हैं लेकिन हो सकता है कि आप भूल गए हों। आपकी सुविधा के लिए सारी जानकारियों को एक बार फिर से आपके सामने रखते हैं। अबकी थोड़ा ध्यान से पढि़एगा।

पहचान के प्रमाण के लिए जरूरी कागजात | These documents for Required Id

  1. पासपोर्ट
  2. राशन कार्ड या फोटो पीडीएस कार्ड
  3. पैन कार्ड
  4. ड्राइविंग लाइसेंस
  5. वोटर आईडी कार्ड
  6. मनरेगा जॉब कार्ड
  7. सरकारी फोटो पहचान पत्र
  8. पब्लिक सेक्टर यूनिट फोटो पहचान पत्र
  9. शस्त्र लाइसेंस
  10. मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान का परिचय पत्र
  11. फोटो बैंक एटीएम कार्ड
  12. फोटो क्रेडिट कार्ड
  13. किसान फोटो पासबुक
  14. पेंशनर फोटो कार्ड
  15. स्वतंत्रता सेनानी पहचान पत्र
  16. ईसीएचएस व सीजीएचएस फोटो कार्ड
  17. राजपत्रित अधिकारी या तहसीलदार द्वारा जारी पहचान पत्र
  18. डाक विभाग द्वारा जारी फोटो पहचान पत्र
  19. दिव्यांग पहचान पत्र या सर्टिफिकेट

aadharपते के प्रमाणपत्र के लिए जरूरी पेपर्स | Required documents for address proof

  • बैंक स्टेटमेंट या पासबुक
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट
  • पोस्ट ऑफिस पासबुक या स्टेटमेंट
  • वोटर आईडी कार्ड
  • सरकारी पहचान पत्र
  • पीएसयू के फोटो पहचान पत्र
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पानी का बिल व रसीद
  • बिजली का बिल व रसीद
  • हाउस टैक्स का बिल व रसीद
  • लैंडलाइन टेलीफोन का बिल व रसीद
  • तीन महीने का क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट
  • बैंक द्वारा प्रमाणित पता
  • इंश्योरेंस पॉलिसी
  • मान्यता प्राप्त शैक्षणिक संस्थान द्वारा जारी पहचान पत्र
  • रजिस्टर्ड कंपनी द्वारा प्रमाणित पते का प्रमाणपत्र
  • शस्त्र लाइसेंस
  • मनरेगा जॉब कार्ड
  • पेंशनर कार्ड
  • किसान पासबुक
  • स्वतंत्रता सेनानी पहचान पत्र
  • इनकम टैक्स असेसमेंट आर्डर
  • ईसीएचएस व सीजीएचएस कार्ड
  • ग्राम पंचायत विभाग द्वारा जारी पते का प्रमाण पत्र
  • सांसद, विधायक या तहसीलदार द्वारा जारी पते का प्रमाण पत्र
  • गाड़ी का रजिस्ट्रेशन पेपर
  • रजिस्टर्ड लीज, सेल व रेंट एग्रीमेंट
  • जाति प्रमाण पत्र
  • डाक विभाग द्वारा जारी पते का प्रमाण पत्र
  • गैस कनेक्शन की पासबुक
  • दिव्यांग पहचान पत्र या सर्टिफिकेट
  • नाबालिग बच्चों के लिए अभिभावकों का पासपोर्ट
  • विवाह प्रमाण पत्र

जन्मतिथि के प्रमाण पत्र के लिए यह पेपर लगाएं | For date of birth proof attach this documents

  1. एसएसएलसी सर्टिफिकेट या बुक
  2. नगर निगम या स्थानीय निकाय द्वारा जारी बर्थ सर्टिफिकेट
  3. पासपोर्ट
  4. पैनकार्ड
  5. प्रथम श्रेणी के राजपत्रित अधिकारी द्वारा जारी जन्मतिथि का प्रमाण पत्र
  6. शैक्षणिक बोर्ड या विश्वविद्यालय का सर्टिफिकेट

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

aadhar card

भारत गैस को कैसे करें आधार से लिंक | How to link Bharat gas with Aadhar in Hindi

अब तक आपने इंडेन व एचपी के एलपीजी कनेक्शन को आधार कार्ड से लिंक करना …