Breaking News
Home / Bank / मास्टर कार्ड क्या है । What is master card in Hindi

मास्टर कार्ड क्या है । What is master card in Hindi

मास्टर कार्ड क्या है। इसके फायदे क्या हैं। कुछ लोग मास्टर कार्ड की गलत परिभाषा बताते हैं, जिसकी वजह से लोगों को तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अक्सर लोग कन्फ्यूज्ड भी हो जाते हैं, जिसकी वजह से वे इसका सही फायदा नहीं उठा पाते हैं। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि मास्टर कार्ड क्या है। हम आपको इस कार्ड की उपयोगिता और इसके फायदे भी बताएंगे।

master card

मास्टर कार्ड क्या है

मास्टर कार्ड एक तरह से मल्टीपल फाइनेंशियल कार्ड है। पहले लोगों के पास जो भी डेबिट या क्रेडिट कार्ड होते थे, उनका इस्तेमाल संबंधित बैंकों के एटीएम पर ही किया जा सकता था।

यानी अगर आपके पास भारतीय स्टेट बैंक का एटीमए कार्ड था तो आप इसका इस्तेमाल एसबीआई के एटीएम पर ही कर सकते थे। दूसरे बैंकों के एटीएम पर यह कार्ड मान्य नहीं था। इसकी वजह से अलग-अलग बैंकों का डेबिट और क्रेडिट कार्ड रखने वालों को तमाम तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन कंपनी ने काम किया आसान

लोगों की इस समस्या को ध्यान में रखते हुए फाइनेंशियल इंस्टीटय्शन कंपनी ने एक शानदार काम किया, जिसकी वजह से लोग अब अलग-अलग बैंकों का कार्ड रखने के बाद भी सभी बैंकों के एटीएम पर इसका इस्तेमाल आसानी के साथ कर रहे हैं। कंपनी ने दूनिया भर में फैले ज्यादातर बैंकों के साथ समझौता किया। इसका नतीजा यह हुआ कि लोग एक बैंक का एटीएम कार्ड रखते हैं, लेकिन इसका इस्तेमाल सभी बैंकों के एटीएम पर करते हैं।

कार्ड के ऊपर लिखा होता है खास नंबर

अगर आपके पास मास्टर कार्ड है तो आप देखेंगे कि कार्ड के ऊपर एक नंबर लिखा होता है। इस नंबर की वजह से कार्ड होल्डर्स का डेटा कंपनी के सर्वर में स्टोर होता है। सभी कार्ड होल्डर्स की जानकारी एक ही सर्वर पर होने की वजह से अलग-अलग बैंकों के बीच एक पेमेंट नेटवर्क तैयार हुआ।

ऐसे में आप किसी भी बैंक के एटीएम का इस्तेमाल आसानी से कर लेते हैं। आप जैसे कार्ड swap करते हैं, बैंकों के बीच डेटा ट्रांसफर हो जाता है। इसके बाद आप आसानी के साथ लेनदेन कर लेते हैं।

तो इसलिए कहते हैं मास्टर कार्ड

यही वजह है कि इसे मास्टर कार्ड कहा जाता है। एक ऐसा एटीएम कार्ड, जो किसी भी बैंक के एटीएम पर मान्य है। ऑनलाइन शॉपिंग और ऑनलाइन पेमेंट किया जा सकता है। बाजार से लेकर सिनेमा हॉल तक में स्वीकार किया जाता है। ऐसे ही कार्ड को मास्टर कार्ड कहा जाता है। मास्टर का मतलब ही हरफनमौला होता है। आप इसे अंग्रेजी में आलराउंडर भी कह सकते हैं।

पूरी दुनिया में बढ़ी स्वीकार्यता

मास्टर कार्ड की स्वीकार्यता पूरी दुनिया में है। आप इस कार्ड का इस्तेमाल कहीं भी कर सकते हैं। आप चाहे भारत के किसी भी राज्य में हों, या फिर दुनिया के किसी भी कोने में हों, मास्टर कार्ड का इस्तेमाल हर जगह किया जाता है।

ज्यादातर बैंकों ने मास्टर कार्ड को मान्यता दे रखी है। यही वजह है कि भारतीय बैंकों के अलावा दुनिया भर में मौजूद अलग-अलग देशों के बैंकों की ओर से भी मास्टर कार्ड ही जारी किया जाता है। बैंकों का मानना है कि उनका मकसद कार्ड होल्डर्स को फायदा पहुंचाना है।

सुरक्षित है मास्टर कार्ड

मास्टर कार्ड पूरी तरह सुरक्षित है। मास्टर कार्ड का यूज करने पर दुनिया भर की तमाम कंपनियां आपको डिस्काउंट देती हैं। ऑनलाइन शॉपिंग के लिए भी खरीदारों को ऑफर दिया जाता है। मास्टर कार्ड भी मल्टीपल फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइड करता है, जिसकी वजह से कार्ड होल्डर्स को तमाम तरह का फायदा हासिल हो रहा है। तो इस तरह आप पूरी आजादी और सुरक्षित तरीके से मास्टर कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

पिन नंबर शेयर न करें

मास्टर कार्ड पूरी तरह सुरक्षित है। आपको बस इस बात का ख्याल रखना है कि किसी को आपके एटीएम कार्ड का पिन नंबर पता न चलने पाए। ऐसा होने पर दिक्कतें हो सकती हैं। बेहतर है कि एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए आरबीआई की गाइडलाइन को फॉलो किया जाए।

आरबीआई ने साफ कर दिया है कि कार्ड होल्डर्स किसी भी हालत में पिन नंबर डिस्क्लोज न करें। पॉस मशीन से पैसे निकालने के बाद स्क्रीन पर वेलकम लिखकर आने तक इंतजार करें। इस दौरान रूम में किसी को मत आने दें। पॉस मशीन का इस्तेमाल करने पर कैंसल बटन को दबाएं।

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

types of debit card

डेबिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं । How many types of debit card in Hindi

डेबिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं। यह सवाल आम लोगों के जेहन में है। …