Home / Driving licence / अगर आरसी गुम हो जाए । If rc is lost

अगर आरसी गुम हो जाए । If rc is lost

ड्राइविंग के वक्त लाइसेंस के साथ ही आपनी गाड़ी की रजिस्ट्रेशन कॉपी भी साथ रखें। अब तक शायद आपको इसकी जरूरत कम ही पड़ती होगी लेकिन अब ऐसा नहीं है। अगर आप बिना आरसी के पकड़े गए तो चालान कटेगा और भारी जुर्माना देना पड़ेगा। अगर आपकी आरसी खो गई है तो आपको तुरंत इसका डुप्लीकेट बनवा लेना चाहिए। काम बहुत आसान है। हम आरसी के गुम हो जाने पर इसका डुप्लीकेट बनवाने की पूरी प्रक्रिया की जानकारी देते हैं।

form 26

आरसी यानि रजिस्ट्रेशन बुक आपकी गाड़ी की जन्म कुंडली होती है। इसमें गाड़ी का पूरा ब्योरा दर्ज होता है। गाड़ी के निर्माण के वर्ष से लेकर चेसिस नंबर, इंजन नंबर, गाड़ी मालिक का नाम व पता तक इसमें दर्ज होता है। जांच के दौरान वाहन चालक को इसे चेकिंग करने वाले पुलिस व परिवहन विभाग के अफसरों के सामने प्रस्तुत करना होता है। इस पर गाड़ी के रजिस्ट्रेशन की तारीख और वैलिडिटी का भी उल्लेख होता है।

डुप्लीकेट आरसी बनवाने की जानकारी । How to get duplicate RC

  • आरसी का डुप्लीकेट प्राप्त करने के लिए आपको इसकी वजह बतानी होगी। अगर आरसी फट गई है तो इसको लगाकर डुप्लीकेट बनवाया जा सकता है। इसके लिए आपको फार्म नंबर 26 भरना होगा और आरटीओ ऑफिस जाना होगा।
  • अगर आरसी आपसे खो गई है या चोरी हो गई है तो आपको पहले इसकी एफआईआर निकट के पुलिस स्टेशन में दर्ज करवानी होगी।
  • एफआईआर दर्ज करने का काम पहले ही तरह झंझटिया नहीं रह गया है। अगर आपकी आरसी खो गई है तो आप ऑनलाइन एफआईआर दर्ज करवा सकते हैं।
  • ऑनलाइन एफआईआर साइबर कैफे व जन सेवा केंद्र पर जाकर दर्ज करवाई जा सकती है। यह काम बेहद आसान है।
  • आप अपने प्रदेश की पुलिस के एप के जरिए मोबाइल पर भी यह काम करवा सकते हैं। आपके पास अपने राज्य की पुलिस की वेबसाइट का एड्रेस की जानकारी होनी चाहिए।
  • हर राज्य में पेपर्स के खो जाने पर एफआईआर दर्ज करवाने की प्रक्रिया अलग-अलग निर्धारित है। आपको एफआईआर दर्ज करवाने के लिए पूरी डिटेल भरनी होगी।
  • आरसी कैसे खोई, कहां पर गुम हुई, गुम होने का दिन, समय भी भरना होगा। ऑनलाइन एफआईआर सिर्फ गुम होने पर ही दर्ज की जाती है।
  • अगर आरसी चोरी हो गई है तो ऑनलाइन एफआईआर से काम नहीं चलेगा। इसके लिए आपको थाने पर जाकर एप्लीकेशन देनी होगी और चोरी की धाराओं में एफआईआर दर्ज करवानी होगी।
  • अगर सिर्फ आरसी चोरी हुुआ है और बाकी का कीमती सामान सुरक्षित है तो भागदौड़ से बचने के लिए आप गुम हो जाने की एफआईआर ही दर्ज करवाएं। इससे आप व्यर्थ की भागदौड़ से बच जाएंगे।
  • इसके बाद आपको उस जिले के आरटीओ व एआरटीओ ऑफिस में संपर्क करना होगा जहां आपकी गाड़ी रजिस्टर्ड है।
  • आपको आरटीओ ऑफिस से फार्म नंबर 26 प्राप्त करना होगा। फार्म 26 को आप ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते हैं। हम आपको फार्म काे डाउनलोड करने का लिंक इसी आर्टिकल के आखिर में देंगे।
  • इसमें आपको सारी जानकारियां दर्ज करनी होंगी। इसके साथ ही पहचान व आवास के प्रमाण पत्र की फोटो कॉपी लगानी होगी।
  • आप प्रमाण पत्र के तौर पर आधार कार्ड, पैन कार्ड, एलआईसी की कॉपी आदि लगा सकते हैं। आरटीओ ऑफिस अपने खुद के जारी किए ड्राइविंग लाइसेंस को पहचान पत्र के रूप में नहीं मानता है। इसलिए डीएल अटैच न करें।
  • आपको फार्म के साथ ही प्रमाण पत्रों की मूल प्रति भी प्रस्तुत करनी होगी। फार्म पर आपको अपनी नवीनतम फोटो भी लगानी होगी।
  • आप फीस का भुगतान ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों तरीकों से कर सकते हैं।
  • एक अन्य बात का ख्याल रखें। आरसी की डुप्लीकेट प्रति प्राप्त करने के लिए वही प्रमाण पत्र लगाएं जिसमें अंकित पता आपके आरसी में भी दर्ज हो।
  • प्रमाण पत्र व आरसी में दर्ज पते में अंतर होने पर डुप्लीकेट आरसी जारी नहीं होगी। इसके लिए पहले आपको पते का संशोधन करवाना होगा।
  • आपको रजिस्ट्रेशन अथॉरिटी के समक्ष उपस्थित होना होगा। अगर आपकी गाड़ी कामर्शियल है तो आपको नोटरी से एफिडेविड बनवाकर भी देना होगा।
  • फार्म 26 को डाउनलोड करने के लिए यहां पर क्लिक करें। फार्म पीडीएफ फार्मेट में उपलब्ध है। डाउनलोड कर इसका प्रिंट निकाल लें और भरकर आरटीओ ऑफिस में जमा कर दें।
  • आप आरटीओ ऑफिस के काउंटर से भी निर्धारित शुल्क को जमा कर फार्म प्राप्त कर सकते हैं।

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

sarthi

ड्राइविंग लाइसेंस को ऑनलाइन बनवाने का तरीका । How to apply for driving licence online

नए मोटर व्हेकिल एक्ट लागू हो चुके हैं। अब बिना लाइसेंस के ड्राइविंग करना खतरे …