Home / Driving licence / एक साथ कैसे बनवाएं कार और बाइक का लाइसेंस | how to apply car and bike licence jointly in hindi

एक साथ कैसे बनवाएं कार और बाइक का लाइसेंस | how to apply car and bike licence jointly in hindi

driving licence
driving licence

आप बाइक खरीदने जा रहे हैं और भविष्य में कार भी खरीदने का प्लान है तो अलग-अलग ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने की कोई जरूरत नहीं। आपका काम एक ही बार में हो जाएगा। आप एक साथ ही टू व्हीलर व लाइट मोटर व्हेकिल के ड्राइविंग लाइसेंस के लिए एप्लाई कर सकते हैं।

दोनों लाइसेंस एक ही बार में बन जाएंगे और आप आरटीओ ऑफिस के बार-बार चक्कर लगाने से बच जाएंगे। लाइसेंस बनवाने की पहली शर्त यह है कि आपको ड्राइविंग आनी चाहिए और दूसरी शर्त है कि आपके पास पते, पहचान व उम्र का प्रमाण पत्र होना चाहिए। आपको लाइसेंस बनवाने के लिए एक बार ऑनलाइन व एक बार ड्राइविंग टेस्ट से गुजरना होगा।

इसके बाद एक ही बार में आपका टू व्हीलर व कार का लाइसेंस बन जाएगा। लाइसेंस के जरिए आप भारत में कहीं भी गाड़ी ड्राइव तो कर सकेंगे ही, किसी प्रकार की अनहोनी होने पर झमेले से भी बच जाएंगे। वैध लाइसेंस होने पर इंश्योरेंस कंपनियां क्लेम का पूरा का पूरा पैसा तो देंगी ही, आप कानूनी पचड़े में भी फंसने से बच जाएंगे।

आपको सबसे पहले सारथी वेबसाइट पर जाकर लाइसेंस टेस्ट के लिए अप्वाइंटमेंट लेना होगा। वेबसाइट आपको तारीख व समय की जानकारी देगी। आपको निर्धारित समय पर आरटीओ ऑफिस में उपस्थित होकर ऑनलाइन व ड्राइविंग टेस्ट देना होगा। अप्वाइंटमेंट का लिंक आपको इसी आर्टिकल में मिलेगा।

खुद उपस्थित होना होगा | Must have to attend myself

आप ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने जा रहे हैं तो यह बात अच्छी तरह से जान लें कि इसके लिए आपको खुद आरटीओ ऑफिस के लाइसेंसिंग अफसर के समक्ष उपस्थित होना ही होगा। अगर कोई कहता है कि आपका लाइसेंस घर बैठे बनवा देगा तो वह धोखा दे रहा है। ऐसे लोगों के झांसे में बिल्कुल भी न आएं।

आरटीओ में लाइसेंस के लिए आपको वेब कैम से फोटो खिंचवानी पड़ती है और बायोमेट्रिक निशान भी देते पड़ते हैं। यह सारी प्रक्रिया आपके उपस्थित हुए बिना पूरी नहीं हो सकती। इसलिए दलालों के झांसे के न आएं और खुद ही लाइसेंस बनवाएं। अगर दलाल के चंगुल में फंस गए तो इस बात की तो गारंटी है कि वह जो लाइसेंस आपको देगा, वह पक्का फर्जी होगा।

निर्धारित काउंटर से ही लें फार्म | Form purchase only valid counter

आप आरटीओ ऑफिस पहुंचेंगे तो सबसे पहले आपका सामना दलालों से ही होगा। वे आपको गियर में लेने की कोशिश करेंगे। फार्म दिखाएंगे और कहेंगे कि बिना उनकी मदद के आप लाइसेंस नहीं बनवा सकेंगे। वे बिना आप से पूछे ही फार्म भी भरना शुरू कर देंगे। तुरंत उनसे पिंड छुड़ाएं और सीधे ऑफिस में दाखिल हो जाएं।

आप निर्धारित काउंटर से लर्निंग लाइसेंस के लिए फार्म नंबर एक व दो को खरीदें। फार्म आपका नाम दर्ज करने के बाद ही दिए जाते हैं। इंट्री ऑनलाइन होती है। इसका मतलब है कि फार्म तक का रिकार्ड रखा जाता है। फार्म लेने के बाद आप इत्मिनान से बैठ जाएं और ध्यान से फार्म को भरें। अपना नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि व पते के कॉलम को भरें। फार्म में आप गियर वाली बाइक व एलएमवी के सामने वाले कॉलम में टिक करें। आखिर में अपना सिग्रेचर करें।

यह पेपर्स लगाएं | Attach thece document

आयु प्रमाण पत्र

  • जन्म प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • पासपोर्ट
  • हाईस्कूल का सर्टिफिकेट
  • स्कूल की ओर से जारी की गई टीसी
  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड

पते का प्रमाण पत्र

  • आधार कार्ड
  • हाउस रेंट एग्रीमेंट
  • पासपोर्ट
  • वोटर आईडी कार्ड
  • एलआईसी बांड
  • राशन कार्ड
  • बिजली का बिल
  • टेलीफोन का बिल
  • एलपीजी कनेक्शन बुक
  • छह रंगीन फोटो
  • आवेदन के लिए निर्धारित फीस

बायोमेट्रिक निशान लिए जाएंगे | Biometric marks will be drawn

आपको ऑनलाइन लिखित परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा। लिखित परीक्षा के पहले आपके बायोमेट्रिक निशान लिए जाएंगे और वेबकैम से फोटो खींची जाएगी। सारी प्रक्रियाएं ऑनलाइन होती हैं। आरटीओ ऑफिस में बैठे लोगों को भी पता नहीं होता कि कौन सा प्रश्र आपसे पूछा जाएगा।

टेस्ट पर परिवहन विभाग के मुख्यालय से नजर रखी जाती है। ऑनलाइन टेस्ट में आपसे ड्राइविंग, ट्रैफिक रूल्स और साइन से जुड़े सवाल ही पूछे जाएंगे। सभी सवाल ऑब्जेक्टिव होंगे। हर प्रश्र के साथ चार विकल्प दिए जाएंगे और इनमें से सही जवाब को आपको चुनना होगा। यदि कोई व्यक्ति पढ़ा लिखा नहीं है तो उसका लाइसेंस नहीं बन सकता। क्योंकि जवाब देने के लिए कोई उसकी मदद नहीं करेगा।

कुछ ही देर में आ जाएगा रिजल्ट | After some time result declare

ऑनलाइन टेस्ट के बाद घर न लौटें। टेस्ट के कुछ ही देर बाद रिजल्ट घोषित कर दिया जाएगा। आप टेस्ट में पास हो जाएंगे तो उसी दिन आपको लर्निंग लाइसेंस बनाकर दे दिया जाएगा। लर्निंग लाइसेंस सिर्फ छह महीने के लिए मान्य होता है। यह लाइसेंस आपको ड्राइविंग सीखने के लिए दिया जाता है।

छह महीने के भीतर आपको ड्राइविंग में दक्ष होना होगा। लर्निंग लाइसेंस धारक अगर एल प्लेट नहीं लगाएंगे तो यह भी नियम का उल्लंघन होगा। बिना एल प्लेट की गाड़ी चलाते पकड़े जाने पर आपका लर्निंग लाइसेंस निरस्त भी किया जा सकता है। छह महीने का वक्त लोगों को ड्राइविंग सीखने के लिए दिया जाता है। ड्राइविंग सीखने के लिए आप आरटीओ की ओर से अधिकृत ड्राइविंग स्कूल में भी दाखिला ले सकते हैं।

ले सकते हैं एडमिशन | Admission in driving school

ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल में दो हफ्ते से लेकर चार हफ्ते तक का कोर्स चलाया जाता है। इसमें आपको हर तरह की गाड़ी चलानी सिखाई जाती है। हालांकि अधिकांश लोग चार पहिया गाड़ी चलाना सीखने के लिए आते हैं। ट्रेनिंग खास तौर पर बनाई कार में दी जाती है। इस कार में दो क्लच व दो ब्रेक होते हैं। आपके हाथ में स्टेरिंग होगी, आप ही गियर लगाएंगे लेकिन बगल में बैठे प्रशिक्षक के पास एक्सट्रा क्लच व बे्रक होता है। आपने अगर गलती कर दी तो प्रशिक्षक कार को रोक देगा।

ऐसे लें अप्वाइंटमेंट

  • आप अब लाइसेंस बनवाने के लिए सीधे आरटीओ ऑफिस नहीं जा सकते। आपको टेस्ट के लिए अप्वाइंटमेंट लेना होगा।
  • अप्वाइंटमेंट लेने के लिए यहां पर क्लिक करें
  • आपको सबसे पहले राज्य व जिले का चयन करना होगा। इसके बाद नाम, पिता का नाम, उम्र को भरना होगा। इससे संबंधित डाक्यूमेंट्स अपलोड करने होंगे।
  • आपको वेबसाइट से टेस्ट की तारीख व समय मिल जाएगा। निर्धारित टाइम स्लॉट पर पहुंचें और टेस्ट दें।
  • ड्राइविंग लाइसेंस संबंधित कोई भी जानकारी आप 18001800152 टोल फ्री नंबर पर भी हासिल कर सकते हैं।

आसान होता है टेस्ट

टेस्ट देते वक्त बिल्कुल भी डरे नहीं। आपसे भीड़भाड़ वाले रास्ते पर गाड़ी चलाने को नहीं कहा जाएगा। आपसे ट्रैफिक रूल्स से जुड़े सवाल भी पूछे जा सकते हैं। यह देखा जाएगा कि आपको गियर, बे्रक व क्लच के बारे में कितनी जानकारी है। यह भी पूछा जा सकता है कि दाएं व बाएं मुडऩे के लिए हाथ से कैसे इशारा करना है और पीछे आ रही गाड़ी को कैसे पास देना है।

इसलिए टेस्ट देने के पहले रूल बुक को अच्छी तरह से पढक़र आएं। इसमें आपको सिग्रल के बारे में भी जानकारी मिल जाएगी। अगर आप फेल हो गए तो फिर से लर्निंग लाइसेंस के लिए एप्लाई करना होगा। यह भी हो सकता है कि आपको कुछ दिन बाद फिर से टेस्ट के लिए बुला लिया जाए।

आपको रूल्स इसलिए भी पता होने चाहिए क्योंकि यह आपकी और कई मासूम लोगों की जिंदगियों के लिए जरूरी है। आपका एक कदम कई लोगों की जान बचा सकता है। पास होने के बाद आपको नया चिप लगा लाइसेंस मुहैया करवा दिया जाएगा। पर्मानेंट लाइसेंस आपके घर के पते पर स्पीड पोस्ट से भेजा जाएगा।

स्पीड पोस्ट के लिए आपको अलग से फीस जमा करनी होगी। पते पर लाइसेंस इसलिए भेजा जाता है ताकि यह गलत व्यक्ति के हाथों में यह न पड़े। इस लाइसेंस को लेकर आप पूरे देश में कहीं भी भ्रमण कर सकते हैं।

बहुत काम का है लाइसेंस | Licence is very useful

नया ड्राइविंग लाइसेंस बहुत उपयोगी है। अब आपको चिप लगा लाइसेंस मिलता है जिसमें पता, उम्र व नाम दर्ज होता है। कई विभागों में यह पहचान पत्र के तौर पर मान्य है। आप नए ड्राइविंग लाइसेंस को भारत में कहीं पर भी प्रमाण पत्र के तौर पर लगा सकते हैं। ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से भी जोड़ा जाएगा।

इसके बाद तो नियम को तोडऩे पर कड़ी सजा भी मिलेगी। लाइसेंस के आधार से जुड़ जाने के बाद आप छिपाकर नया लाइसेंस भी हासिल नहीं कर पाएंगे। आधार से लिंक हो जाने के बाद ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़ी सारी जानकारियां भारत सरकार के पास मौजूद होंगी। सरकार को यह तक पता होगा कि लाइसेंस का कब-कब चालान हुआ है या उक्त व्यक्ति ने कोई एक्सीडेंट तो नहीं किया है।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

sarthi

ड्राइविंग लाइसेंस को ऑनलाइन बनवाने का तरीका । How to apply for driving licence online

नए मोटर व्हेकिल एक्ट लागू हो चुके हैं। अब बिना लाइसेंस के ड्राइविंग करना खतरे …