Breaking News
Home / Driving licence / ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें । How to get driving licence online

ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन कैसे अप्लाई करें । How to get driving licence online

सरकार के नियमों में बदलाव करने के बाद बिना ड्राइविंग लाइसेंस के गाड़ी चलाने पर भारी जुर्माना भरना पड़ रहा है। अगर आपको भी ड्राइविंग करनी है तो फटाफट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर दें। Driving licence के लिए online कैसे Apply करना है, इसका तरीका हम आपको आज विस्तार से बताएंगे।

sarthi

अप्लाई करने के पहले आज ड्राइविंग लाइसेंस के प्रकार के बारे में विस्तार से जान लीजिए। लाइसेंस टू व्हीलर, एलएमवी, एचएमवी के अलग-अलग बनते हैं। टू व्हीलर व एलएमवी यानि लाइट मोटर व्हेकिल का लाइसेंस एक साथ बन सकता है। आप कार चलाना जानते हैं तो बाइक व एलएमवी यानि प्राइवेट कार का लाइसेंस एक साथ बनवाएं।

ड्राइविंग लाइसेंस ऑनलाइन प्राप्त करने की प्रक्रिया की पूरी जानकारी । How to get driving licence online

  • पहले ड्राइविंग लाइसेंस के लिए लोगों को आरटीओ दफ्तर के दलालों के चक्कर लगाने पड़ते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है।
  • परिवहन विभाग ने व्यवस्था कर दी है कि अब कोई भी ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अप्लाई कर सकता है।
  • ऑनलाइन अप्लाई करते वक्त आपको पूरा फार्म भरना होगा और डॉक्यूमेंट्स अपलोड करने होंगे।
  • आपके अप्लाई करने के बाद आरटीओ ऑफिस से आपको अप्वाइंट मिल जाएगा। आपको बताया दिया जाएगा कि टेस्ट देने के लिए कब और कितने बजे ऑफिस में उपस्थित होना होगा।
  • आपको आरटीओ ऑफिस में ऑनलाइन टेस्ट देना होगा। टेस्ट में ट्रैफिक रूल से जुड़े सवाल पू्छे जाते हैं।
  • रिटेन टेस्ट ऑनलाइन होता है और इसमें कोई आपकी मदद नहीं करेगा। निर्धारित अवधि बाद पेज अपने आप ही लॉक हो जाएगा।
  • इसके बाद आपको मोटर व्हेकिल इंस्पेक्टर के सामने वह गाड़ी चलाकर दिखानी होगी जिसके लाइसेंस के लिए आपने आवेदन किया है।
  • आप अगर ड्राइविंग टेस्ट में फेल हो गए तो लिखित परीक्षा पास करने के बावजूद लाइसेंस नहीं बनेगा।
  • आपको पहले लर्निंग लाइसेंस बनाकर दिया जाएगा और निर्धारित अवधि के बाद आप पर्मानेंट लाइसेंस के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • तब भी आपको ड्राइविंग का टेस्ट देना होगा। इसलिए हमारी सलाह है कि आप ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अप्लाई करने जा रहे हैं तो पहले गाड़ी चलाना सीख लें।
  • गाड़ी चलाना सीखने के लिए आप ड्राइविंग स्कूल जा सकते हैं। आपके पास पहले से टू व्हीलर का लाइसेंस है और आपको चार पहिया का लाइसेंस बनवाना है तो भी आपको ऑनलाइन टेस्ट व ड्राइविंग टेस्ट की प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा।
  • बाइक व कार यानि एलएमवी का लाइसेंस उसी व्यक्ति का बनता है जिसकी उम्र 18 साल या इससे अधिक हो।
  • हैवी वाहनों का ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना थोड़ा कठिन है। इसके लिए आपके पास एलएमवी का कम से कम एक साल पुराना लाइसेंस होना चाहिए। इसके बाद ही हैवी लाइसेंस के लिए अप्लाई किया जा सकता है।

इन राज्यों में होता है ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट

  • उत्तर प्रदेश
  • बिहार
  • चंड़ीगढ
  • छत्तीसगढ़
  • हिमाचल प्रदेश
  • दिल्ली
  • झारखंड
  • उत्तराखंड
  • पश्चिम बंगाल
  • महाराष्ट्र
  • राजस्थान
  • मध्य प्रदेश
  • गोवा
  • दादर एवं नागर हवेली
  • दमन एवं दीव
  • केरल
  • मणिपुर
  • मेघालय
  • पुडुचेरी
  • सिक्किम
  • तमिलनाडु
  • त्रिपुरा
  • कुल 22 राज्यों में सारथी वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है।

ऐसे करें अप्लाई

  • आपको सबसे पहले केंद्र सरकार की सारथी वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट का लिंक आपको इसी आर्टिकल में मिलेगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको सबसे पहले राज्य का चुनाव करना होगा। राज्यों की लिस्ट आपको मेन पेज पर ही मिलेगी।
  • आप भाषा का चुनाव भी कर सकते हैं। आप हिंदी या अंग्रेजी में से किसी एक भाषा का चुनाव कर फार्म को भरने की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपको अपना नाम, पता, पिता का नाम, उम्र जैसी डिटेल भरनी होगी।
  • आपको फोटो, उम्र व पते के प्रमाण पत्र को भी अपलोड करना होगा। सिग्नेचर की स्कैन कॉपी को भी अपलोड करना होगा।
  • आपको अपने राज्य व जिले का भी चुनाव करना होगा। इसके बाद वेबसाइट आपके लिए टेस्ट की तारीख व समय निर्धारित कर देगी।
  • उस दौरान आपको संबंधित आरटीओ कार्यालय में उपस्थित होना होगा और टेस्ट प्रक्रिया से गुजरना होगा।
  • आपको ड्राइविंग व ट्रैफिक रूल की बेसिक जानकारी होनी चाहिए। यह पता न होने पर आपके फेल होने का खतरा होगा।
  • फेल हो जाने पर फिर से अप्वाइंटमेंट लेना होगा। आपको पूरी प्रक्रिया को फिर से दोहराना पड़ेगा।
  • पहले आपको लर्निंग लाइसेंस मिलेगा। इसका मतलब है कि आप अभी गाड़ी को चलाना सीखने की प्रक्रिया में हैं।
  • लर्निंग लाइसेंस होने पर आपको अपनी गाड़ी पर L लिखवाना होगा।
  • लर्निंग लाइसेंस की अवधि समाप्त होने के बाद आपको फिर से पर्मानेंट लाइसेंस के लिए भारत सरकार की सारथी वेबसाइट पर जाकर अप्वाइंटमेंट लेना होगा।
  • अप्वाइंटमेंट लेने के लिए यहां पर क्लिक करें
  • न तो आपको किसी दलाल से मिलना है, न ही किसी से सिफारिश लगवानी है। सारा काम फटाफट होगा। बस आप फेल न हों।
  • एग्जाम देने के पहले ट्रैफिक रूल्स के बारे में अच्छी तरह से जान लें। लाइसेंस जारी करने वाला अधिकारी आपसे मौखिक सवाल भी पूछ सकता है।
  • आपकी ऑफिस में ही वेबकैम से फोटो ली जाएगी और अंगूठे का निशान भी देना होगा।
  • अगर कोई व्यक्ति आपसे कहता है कि वह घर बैठे लाइसेंस बनवा देगा तो उसके झांसे में न आएं। आपको खुद आरटीओ ऑफिस में उपस्थित होना ही होगा।
  • पर्मानेंट लाइसेंस आपके घर के पते पर डाक से भेजा जाएगा। इससे पते का वैरिफकेशन भी हो जाता है। डाक सात दिन के भीतर आपके घर के पते पर पहुंचेगी।
  • ड्राइविंग लाइसेंस संबंधित कोई भी जानकारी आप 18001800152 टोल फ्री नंबर पर भी हासिल कर सकते हैं।

लाइसेंस के प्रकार

  • 50 सीसी की बाइक, गियर वाली बाइक, कार, कामर्शियल कार, मिनी बस या मिनी ट्रक, बस व ट्रक के लिए अलग-अलग लाइसेंस बनता है।
  • सबके लिए शर्तें अलग-अलग हैं। 50 सीसी से कम क्षमता वाली बाइक का लाइसेंस 16 साल की उम्र में बनता है तो गियर वाली मोटर साइकिल व प्राइवेट कार के लिए 18 साल की उम्र होनी चाहिए।
  • कामर्शियल लाइसेंस डायरेक्ट नहीं बनता है। कामर्शियल लाइसेंस उसी व्यक्ति का बनता है जिसके पास कम से कम एक साल पुराना प्राइवेट लाइसेंस हो और उम्र कम से कम 20 साल हो।
  • कामर्शियल लाइसेंस भी पहले लर्निंग बनता है। बाद में इसको पर्मानेंट किया जाता है। कामर्शियल लाइसेंस के लिए लोगों को ड्राइविंग स्कूल से सर्टिफिकेट भी प्राप्त करना होता है।

पते व उम्र के प्रमाण पत्र के लिए ये पेपर लाएं

  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • दसवीं का सर्टिफिकेट
  • पासपोर्ट
  • एलआईसी पॉलिसी
  • पेंशन पास बुक
  • आर्म्स लाइसेंस
  • केंद्र व राज्य सरकार के आईडी कार्ड
  • हाउस रेंट एग्रीमेंट
  • राशन कार्ड
  • बिजली का बिल
  • टेलीफोन का बिल
  • एलपीजी कनेक्शन बुक
  • पासपोर्ट साइज की फोटो

पूरे देश में वैद्यता

ड्राइविंग लाइसेंस की वैद्यता पूरे देश में होती है। आपके राज्य के लाइसेंस को दूसरे राज्य भी मानते हैं। पहले कागज की शक्ल में लाइसेंस मिलता था। अब स्मार्ट चिप युक्त लाइसेंस बनाए जा रहे हैं।

लाइसेंस फीस

लनिंग लाइसेंस – 200 रुपये

पर्मानेंट लाइसेंस – 200 रुपये

रिनुअल फीस – 250 रुपये

ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट – 300 रुपये

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

sarthi

कैसे बनवाएं फोर व्हीलर का लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस । How to get four wheeler learning driving licence

अगर आपके पास फोर व्हीलर है तो ड्राइविंग लाइसेंस जरूर होना चाहिए। अगर आप बिना …