Home / pan card / पैन कार्ड : कैसे करें सब्मिट | pan card : how to submit in hindi

पैन कार्ड : कैसे करें सब्मिट | pan card : how to submit in hindi

pan card

पैन कार्ड बनवाने के लिए हर किसी को फार्म 49-ए भरना पड़ेगा। फार्म 49-ए खासकर उन लोगों के लिए है, जो मूल रूप से भारतीय हैं। यानी अगर कोई मूल रूप से भारतीय है और किसी वजह से विदेशों में रह रहा है तो उसे भी पैन कार्ड बनवाने के लिए फार्म 49-ए ही भरना होगा। जबकि फार्म 49-एए उन लोगों के लिए है, जो मूल रूप से विदेशी हों। यानी ऐसे लोग जो मूल रूप से तो भारतीय नहीं है, लेकिन भारत में रहकर कारोबार कर रहे हैं। कोई बड़ी कंपनी, ट्रस्ट या फिर एसोसिएशन चला रहे हैं। उन्हें फार्म 49-एए ही भरना पड़ेगा। दोनों तरह के फार्म आपको एनएसडीएल और यूटीआईआईटीएसएल की वेबसाइट पर मिल जाएंगे। अगर आप नेट फे्रंडली नहीं है तो भी घबराने की जरूरत नहीं है। अगर इन एजेंसी के किसी भी शाखा पर चले जाइए, आपको फार्म मिल जाएंगे।

स्ट्रक्चर ऑफ फार्म 49-ए | structure of form 49-a

  • एसेसिंग आफिस कोड– आवेदक को इस फार्म में अपना एरिया कोड लिखना होगा
  • इसके साथ ही उसे फार्म पर अपना पूरा नाम दर्शाना होगा
  • फार्म पर वही नाम लिखें, जो दूसरे दस्तावेजों में मौजूद हो। किसी तरह का एख्तिलाफ न होने पाए
  • फार्म पर अपना जेंडर जरूर लिखें। यानी अगर आप पुरुष या महिला हैं तो इसे लिखें जरूर
  • फार्म पर डेट ऑफ बर्थ भी जरूर लिखें
  • फार्म पर अपने नाम के साथ ही पिता का नाम लिखना भी जरूरी है
  • इसी तरह फार्म पर अपने घर का पता भी जरूर लिखें
  • फार्म पर अपना स्टेटस भी जरूर बताएं। अगर आप करदाता हैं तो इसे लिखें
  • अगर कंपनी, फर्म या एसोसिएशन वगैरह है तो उसका रजिस्ट्रेशन नंबर जरूर लिखें
  • फार्म पर आधार नंबर भी जरूर लिखें
  • फार्म पर इसका जिक्र जरूर करें कि आय आपकी आय का स्रोत क्या है
  • फार्म के साथ जरूरी दस्तावेज जरूर लगाएं

भारतीयों के लिए जरूरी दस्तावेज | required documents for indians

पैन कार्ड बनाने की प्रक्रिया को दो पार्ट में डिवाइड किया गया है। एक वे लोग हैं, जो भारत में रहते हैं या भारत के मूल निवासी है, लेकिन विदेशों में रह रहे हैं। दूसरे वे लोग हैं, जो मूल रूप से विदेशी हैं, लेकिन उनकी कंपनियां भारत में काम कर रही हैं। दोनों के लिए फार्म की अलग-अलग की कैटिगिरी बनाई गई है। जो लोग भारत के मूल निवासी हैं, उन्हें फिलहाल फार्म 49-ए ही भरना है।

  • आईडेंटिटी प्रूफ डॉक्यूमेंट्स
  • वोटर आई कार्ड की कॉपी
  • राशन कार्ड की कॉपी आवेदक की फोटो के साथ
  • पासपोर्ट की कॉपी
  • ड्राइविंग लाइसेंस की कॉपी
  • आर्म लाइसें की कॉपी
  • आधार कार्ड की कॉपी
  • केंद्र और प्रदेश सरकार की ओर से कर्मचारियों के लिए जारी पहचान पत्र
  • केंद्र सरकार की हेल्थ स्कीम का कार्ड
  • बैंक पासबुक की कॉपी
  • पेंशन धारक की कॉपी
  • सांसद या विधायक का पहचान पत्र
  • पू्रफ ऑफ डेट ऑफ बर्थ डॉक्यूमेंट
  • नगर निगम की ओर से जारी जन्मतिथि प्रमाणपत्र
  • पेंशन पेमेंट ऑर्डर
  • रजिस्ट्रार की ओर से जारी मैरिज सर्टिफिकेट
  • पासपोर्ट की कॉपी
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • केंद्र और प्रदेश सरकार की ओर से जारी डोमोसाइल सर्टिफिकेट
  • मैजिस्ट्रेट की हस्ताक्षर वाला एफिडेविट

कैसे भरें फार्म 49-ए | how to fill form 49-a

  1. फार्म को पूरी  सावधानी से भरना चाहिए। अगर फार्म भरने में गलती हो गई तो आपका पूरा प्रोसेस ही रुक जाएगा। बाद में आपको दूसरा फार्म भरना पड़ेगा। इसलिए हम आपको बता रहे हैं कि फार्म भरने के लिए किस चीज पर ध्यान देने की जरूरत है।
  2. भाषा और बुनियादी नियम– इस फार्म को सिर्फ अंग्रेजी में ही भरा जाएगा। दूसरी किसी भी भाषा में भरे गए फार्म को रद्द मान लिया जाएगा। इसके साथ ही फार्म को ब्लॉक लेटर में भरना चाहिए। फार्म में अलग-अलग ब्लॉक दिए जाते हैं, जिसके अंदर आपको अलफाबेट्स लिखना होता है
  3. फोटो ग्राफ्स– फार्म में आवेदक को अपनी दो नई और कलरफुल फोटो लगाना पड़ेगा। फोटो पासपोर्ट साइज की होनी चाहिए। फोटो पूरी तरह साफ होनी चाहिए। इसके अलावा फोटो को स्टेपल न करें। उसे गम के साथ चिपकाएं। क्योंकि यही फोटो आपके पैन कार्ड पर लगकर आएगी
  4. फोटो पर हस्ताक्षर– फोटो पर अपनी साइन करना न भूलें। फोटो को फार्म के दाहिने और ऊपरी हिस्से पर लगाएं।
  5. सही जानकारी— फार्म पर सभी सही जानकारी लिखें। यानी नाम, पिता का नाम, घर का पता, पिन कोड, डेट ऑफ बर्थ आदि में किसी तरह की गड़बड़ी न हो। इसके अलावा याद रहे कि फार्म पर जो आईडी पू्रफ लगा रहे हैं, उनमें दर्शाए गए नाम, साइन, फोटो वगैरह से सभी चीजें मैच करनी चाहिए

ब्लॉक लेटर का करें प्रयोग | use block later

  • जिस ब्लॉक लेटर का इस्तेमाल करना हो, उसे तय कर लें, अलग-अलग ब्लॉक लेटर का इस्तेमाल करने पर आपको दिक्कत हो सकती है। मुमकिन है कि आपका फार्म रद्द भी हो जाए
  • अगर आप फार्म भरने जा रहे हैं तो हमेशा ब्लैक सियाही का इस्तेमाल करें। नीले पेन का इस्तेामल करने से परहेज करें और लाल सियाही का इस्तेमाल तो भूलकर भी न करें
  • फार्म पूरी तरह साफ-साफ भरें। यानी फार्म पर किसी तरह की ओवर राइटिंग नहीं होना चाहिए। अगर आवेर राइटिंग होने का खतरा है तो दो फार्म डाउनलोड कर लें। ताकि फार्म गलत होने पर दूसरे फार्म का इस्तेामल किया जा सके
  • फार्म पर पूरा नाम लिखें। यानी जो नाम आपकी हाईस्कूल और इंटरमीडियट की मार्कशीट पर लिखा हो, उसी नाम का इसतेमाल करें।
  • फार्म पर दो पासपोर्ट साइज की फोटो जरूर लगाएं
  • आप जो आईडी पू्रफ और एडरेस पू्रफ लगा रहे हैं, उसमें आपका नाम मैच करना चाहिए। अगर उसमें अलग-अलग है तो बाद में दिक्कत हो सकती है
  • अगर थंब लगा रहे हैं तो जहां पर साइन है, उसकी दूसरी तरफ इसका इस्तेमाल करें

क्या-क्या लगाएं | what to use

आज के दौर में पैन कार्ड जरूरी है। ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से पैन कार्ड बनाए जा रहे हैं। एनएसडीएल और यूटीआईआईटीएसएल लोगों का पैन कार्ड बना रही हैं। ऑफलाइन पैन कार्ड के लिए भी एनएसडीएल और यूटीआईआईटीएसएल की तरफ ही रुख करना पड़ेगा। इसमें सबसे जरूरी है कि पैन कार्ड के लिए आप किस तरह के दस्तावेज लगा रहे हैं। बहुत से लोग मांगे गए दस्तावेज की जगह पर दूसरे डाक्यूमेंट्स लगाते हैं, जिसका उनके पैन कार्ड बनाने की प्रक्रिया रुक जाती है। बाद में उन्हें दोबारा फार्म भरना पड़ता है। ऐसा न हो, इसके लिए हम आपको बता रहे हैं कि पैन कार्ड के फार्म के साथ क्या दस्तावेज लगाएं, जिसकी वजह से आपका पैन कार्ड एक ही बार में बनकर आपके पते पर पहुंच जाए।

ऐसे करें आवेदन | apply for this way

पैन कार्ड के लिए दो तरह से आवेदन कर सकते हैं। अगर आप इंटरनेट फ्रेंडली हैं तो आपक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। अगर इंटरनेट फ्रेंडली नहीं है तो आपके लिए बेहतर होगा कि आप ऑफलाइन आवेदन करें। ऑनलाइन आवेदन के लिए सरकार ने एनएसडीएल और यूटीआईआईटीएसएल जैसी वेबसाइट बना रखी हैं। ऑफलाइन पैन कार्ड बनाने की जिम्मेदारी भी इन्हीं दोनों के पास है, लेकिन इसलिए इंटरनेट की तरफ रुख करने की जरूरत नहीं है। देश भर में चार बड़े जोनल आफिस होने के साथ ही एनएसडीएल और यूटीआईआईटीएसएल की हजारों शाखाएं हैं, जहां आप फार्म लेकर पैन कार्ड के लिए मैनुअली अप्लाई कर सकते हैं। अगर आपके पास फार्म नहीं है तो एनएसडीएल की साइट पर फार्म डाउनलोड कर ऑफलाइन प्रक्रिया को पूरा सकते हैं। यानी दोनों तरह से आपके लिए पैन कार्ड बनवाना आसान है।

हर जिले में शाखाएं | branches in every district

यूटीआईआईटीएसएल और एनएसडीएल की करीब-बरीब हर जिले में शाखाएं हैं। इसके अलावा सरकार ने इसके लिए कई सारी एजेंसियों को भी लगा रखा हैं, जो लोगों का पैन कार्ड बना रही हैं। खास बात यह है कि हजारों एजेंट ऐसे हैं, जो एनएसडीएल और यूटीआईआईटीएसएल से जुड़कर पैन कार्ड बनवाने में लोगों की मदद कर रहे हैं। वे इसके लिए नामिनल फीस ले रहे हैं। आप अगर किसी एजेंट को जानते हैं तो उन्हें फोन कर घर बुलवा सकते हैं। वे आपसे सारे जरूरी दस्तावेज लेने के बाद उसे जमा कर देंगे और करीब पंद्रह दिन के बाद आपका पैन कार्ड आपके घर पर पहुंच जाएगा।

 

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

पैन कार्ड : विदेशी नागरिकों के लिए जरूरी दस्तावेज | pan card : required documents for foreigners in hindi

पैन कार्ड बनवाना बिल्कुल आसान है। इसके लिए कुछ नियम बनाए गए हैं, जिनपर अमल …