Home / pradhanmantri yojana / sarkari yojana / chattisgarh / छत्तीसगढ़ किसान कर्जमाफी योजना । Chattisgarh kisan karzmafi yojana in Hindi

छत्तीसगढ़ किसान कर्जमाफी योजना । Chattisgarh kisan karzmafi yojana in Hindi

जिस तरह भारत एक किसान प्रधान देश है, उसी तरह छत्तीसगढ़ में भी ज्यादातर लोगों की निर्भरता किसानी पर ही टिकी हुई है। किसान पहले तो अच्छी फसल उगाने के लिए बैंकों से कर्ज लेते हैं, अगर उनकी फसल को राष्ट्रीय आपदा या सूखे की वजह से नुकसान पहुंचता है तो कर्ज के दबाव में आकर खुदकुशी  भी कर लेते हैं। छत्तीसगढ़ में बड़ी संख्या में ऐसे किसान थे, जिन्होंने कर्ज अदायगी के दबाव में खुदकुशी कर लिया। यही वजह है कि छत्तीसगढ़ सरकार ने किसान कर्जमाफी योजना की शुरुआत की है।

इस योजना के तहत किसानों को जहां कर्ज के बोझ से आजादी मिलेगी, वहीं उन्हें सरकार की ओर से अच्छी तरह खेती करने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि कर्जमाफी योजना क्या है और आप इस योजना से किस तरह फायदा उठा सकते हैं।

छत्तीसगढ़ किसान कर्जमाफी योजना के लिए छह हजार करोड़ का इंतजाम

छत्तीसगढ़ सरकार ने घोषणापत्र पर अमल करते हुए किसानों की कर्जमाफी का एलान कर दिया है। सरकार ने किसानों की कर्जमाफी के लिए बजट में बड़ी रकम का इंतजाम भी किया है। जानकारों के मुताबिक सरकार ने पहले फेज में किसानों की कर्जमाफी के लिए करीब छह हजार करोड़ रुपये का इंतजाम किया है, जो बहुत बड़ी रकम है। सरकार ने यह भी साफ कर दिया है कि उसकी मंशा ज्यादा से ज्यादा किसानों के कर्ज को माफ करना है। इसलिए कोशिश की जा रही है, लिस्ट में बड़ी संख्या में ऐसे किसानों को जगह मिले, जो कर्ज के बोझ तले दबे हुए हैं।

17 लाख किसानों का कर्जा होगा माफ

छत्तीसगढ़ सरकार ने कर्जमाफी को अपने एजेंडे में शामिल किया था। चुनाव प्रचार के दौरान साफ कर दिया गया था कि अगर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो छत्तीसगढ़ के किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। सरकारी प्रतिनिधियों के मुताबिक सरकार का यह दावा है कि छत्तीसगढ़ में जिस भी किसान पर दो लाख रुपये तक का कर्ज है, उसे माफ किया जाएगा। खास बात यह है कि छोटे कर्जदारों को भी इस योजना का लाभ मिलेगा। यानी अगर किसी किसान ने दो लाख रुपये से कम का लोन लिया है तो उनका कर्ज भी माफ किया जाएगा। बैंकों से लेकर जिलाधिकारी कार्यालय तक इससे जुड़ा नोटिफिकेशन भेजा जा चुका है।

जिलेवार सूची हो रही तैयार

कर्जमाफी के लिए जिलेवार सूची तैयार की जा रही है। सभी बड़े-छोटे शहरों में मौजूद किसानों की सूची भी तैयार की जा रही है। सरकार ने इसके लिए जिला, ब्लाक और तहसील स्तर पर किसानों की सूची तैयार करने का निर्देश दिया है। बैंकों को भी साफ तौर पर निर्देश दिया गया है, वे अपने स्तर पर कर्जदार किसानों की सूची तैयार करें। राष्ट्रीयकृत बैंकों के साथ ही सहकारी बैंकों को भी निर्देश दिए गए हैं। बैंकों को यह भी कहा गया है कि वे किसानों की सूची तैयार कर लीड बैंक में जमा करा दें।

लीड बैंक की जिम्मेदारी

छत्तीसगढ़ सरकार ने लीड बैंक की जिम्मेदारी भी तय कर दी है। लीड बैंक की जिम्मेदारी है कि वह इस सूची को जिला समिति की बैठक में प्रस्तुत कर जिलाधिकारी को इससे अवगत कराएं। इसके बाद सूची में जो भी खामियां हैं, उन्हें ठीक कराकर शासन को भेजी जाए, जिससे किसानों के लिए कर्जमाफी की योजना पर जल्द से जल्द अमल किया जाए। हालांकि सरकार ने इसका एलान पहले ही कर दिया है कि किसानों को अब परेशान होने की जरूरत नहीं है। किसानों के कर्जमाफी की प्रक्रिया चल रही है।

कर्जमाफी के लिए जरूरी दस्तावेज

  • छत्तीसगढ़ के जो भी किसान कर्जमाफी के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उनके पास वोटर आईडी कार्ड या आधार कार्ड होना चाहिए।
  • इसी तरह कर्जमाफी योजना का लाभ लेने के लिए सभी किसानों के पास स्थाई प्रमाणपत्र भी होना चाहिए।
  • इसी तरह खेती के लिए किसानों ने जिस भी बैंक से लोन लिया है, उस बैंक की लोन कॉपी भी उनके पास होनी चाहिए।
  • जो किसान कर्जमाफी के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें पासपोर्ट साइज की फोटो भी अपने साथ रखना होगा।

क्या है पात्रता

  1. जो किसान छत्तीसगढ़ कर्जमाफी योजना का फायदा लेना चाहते हैं, उनके लिए जरूरी है कि वे छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हों।
  2. दूसरे किसी भी प्रदेश के किसान छत्तीसगढ़ में कर्जमाफी योजना के तहत आवेदन करने के लिए योग्य नहीं होंगे।
  3. किसानों को अपना आय प्रमाणपत्र भी लगाना होगा। आय प्रमाणपत्र और बैंकों से मिली लोन कॉपी को समिति के सामने प्रस्तुत करना होगा।
  4. खेती के लिए राष्ट्रीयकृत बैंक, ग्रामीण बैंक या फिर सहकारी बैंक से लिए गए फसली लोन पर ही कर्जमाफी योजना का लाभ मिल सकेगा।

ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं

छत्तीसगढ़ के किसान कर्जमाफी योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं। इसके लिए वे सरकार की अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं। वेबसाइट पर विजिट करने के बाद उनके सामने कर्जमाफी से जुड़ा फार्म खुल जाएगा। फार्म पर दस्तावेज, पात्रता और आय से जुड़े कॉलम मौजूद होंगे, जिन्हें भरना जरूरी है। सभी कॉलम अच्छी तरह भरने के बाद सबमिट ऑप्शन पर क्लिक कर दीजिए। इसके प्रिंट को अपने पास रख लें।

समिति करेगी जांच

छत्तीसगढ़ के जो भी किसान कर्जमाफी योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उनके आधार कार्ड, ऋण खाते से जुड़े होने चाहिए। इसके अलावा जिला स्तरीय समिति पूरे मामले का सत्यापन करेगी। सत्यापन में सब कुछ ठीक पाए जाने पर ही किसानों से जुड़ी फाइल शासन को भेजी जाएगी। शासन से मंजूरी के बाद किसानों से जुड़ी फाइलें बैंकों को भेजी जाएंगी। इसके बाद प्रमाणपत्र तैयार करने का सिलसिला शुरू होगा। बैंक, जिला और तहसील स्तर पर प्रमाणपत्र वितरित किया जाएगा।

इसके लिए तीनों स्थानों पर कैंपों का आयोजन भी किया जाएगा। कैंप आयोजन और प्रमाणपत्र वितरित होने की सूचना किसानों को भेजी जाएगी। खास बात यह है कि कुछ किसानों को प्रमाणपत्र वितरित करने के लिए सरकार की तरफ से होने वाले बड़े कार्यक्रमों में भी बुलाया जा सकता है। इस दौरान सरकार के प्रतिनिधि मौजूद रह सकते हैं।

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

ssc chsl recruitment

एसएससी सीएचएसएल भर्ती-2019 । SSC CHSL recruitment-2019

एसएससी विभिन्न पदों पर बंपर भर्ती करने जा रहा है। इसमें सीएचएसएल यानी कंबाइंड हायर …