Home / pradhanmantri yojana / sarkari yojana / मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना । Mukhyamantri gramodyog rojgar yojana in hindi

मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना । Mukhyamantri gramodyog rojgar yojana in hindi

ग्रामीण क्षेत्रों के बेरोजगार युवाओं को रोजगार में दक्ष बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत युवाओं को प्रशिक्षित कर अपने पैरों पर खड़ा होने लायक बनाया जाएगा। प्रशिक्षित युवा अपना खुद का काम शुरू कर सकते हैं या उनको किसी कंपनी में नौकरी भी मिल सकती है।

up

इस योजना का लाभ कैसे उठाया जाए और इसके लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करवाया जाए, इसके बारे में आज आपको विस्तार से जानकारी देते हैं। योजना का संचालन उत्तर प्रदेश के खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड की से किया जा रहा है। इसका ऑफिस 8, तिलक मार्ग, लखनऊ में स्थित है। इस कार्यक्रम के बारे में आप अधिक जानकारी हासिल करने के लिए लखनऊ का कोड 0522 के साथ 2208321, 2208313 या 2207004 टेलीफोन नंबर पर कॉल भी कर सकते हैं।

आवेदन पत्र के लिए आपको सरकारी दफ्तरों का चक्कर लगाने की भी जरूरत नहीं है। आप दिए गए लिंक http://upkvib.gov.in/employment_scheme_form-hi.aspx पर क्लिक करके भी फार्म को डाउनलोड कर सकते हैं। इस वेबसाइट पर आपको योजना से संबंधित अन्य जानकारियां भी मिल जाएंगी।

योग्यता

  • मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना के तहत वही लोग आवेदन कर सकेंगे जिनकी उम्र 18 से 50 के बीच होगी। 50 साल से अधिक आयु के लोग इस योजना का लाभ नहीं उठा सकेंगे।
  • राज्य सरकार ने यहां पर भी आरक्षण की व्यवस्था की है। 50 प्रतिशत सीटें ओबीसी, एससी-एसटी के लिए आरक्षित हैं। 50 प्रतिशत सीटें अनारक्षित हैं।
  • एरिया में कच्चे माल की उपलब्धता कैसी है, इस आधार पर ग्रामोद्योग इकाइयों का निर्धारण चयनित अभ्यर्थियों के लिए किया जाता है।
  • लोकल लोगों को डेली यूज के सामान की मैन्युफैक्चरिंग करने के लिए लोकल लेवल पर इकाई स्थापित करने में वरीयता दी जाएगी।

उद्देश्य

  • इस योजना का उद्देश्य युवाओं को नौकरी मांगने वाला नहीं बल्कि नौकरी देने वाला बनाना है। युवाओं को इसको ऊपर दिए गए पते पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना है।
  • रजिस्ट्रेशन के बाद उनको ट्रेनिंग दी जाएगी। वहां से उनको प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद सर्टिफिकेट हासिल करना होगा।
  • जब वे प्रशिक्षण पूरा कर लेंगे तो उनको उद्यम स्थापित करने के लिए लोन भी उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • लोन उनको राष्ट्रीयकृत बैंक से मिलेगा और इस काम में बोर्ड लोगों की मदद करेगा।
  • लोन 10 लाख रुपये तक का दिया जाएगा। लोन भी काफी कम दर तक मिलेगा। इस पर मात्र 4 प्रतिशत का ब्याज लिया जाएगा।
  • इसके लिए युवाओं को आधार कार्ड और व्यवसाय के लिए अपना प्रोजेक्ट प्रस्तुत करना होगा।
  • बैंक प्रोजेक्ट का अध्ययन करेगा और यह पता लगाएगा कि इसमें ग्रोथ की कितनी संभावना है।
  • बैंक अगर आपके प्रोजेक्ट से संतुष्ट होगा तो बिना ज्यादा किसी तामझाम के आपको लोन उपलब्ध करा दिया जाएगा।
  • हालांकि 10 लाख रुपये के लोन के लिए बैंक गॉरंटी भी देनी होगी।
  • आरक्षित वर्ग के लाभार्थियों जैसे एससी, एसटी, ओबीसी, दिव्यांग, महिलाओं व पूर्व सैनिकों के ब्याज की पूर्ण राशि उपादान के रूप में उपलब्ध कराई जाएगी।
  • यह योजना जिलाधिकारी के नियंत्रण में काम करती है यानि सबकुछ सरकार की नजर के नीचे ही होता है।

इसको मिलेगा लाभ

  • इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में आईटीआई व पॉलिटेक्निक करने वाले युवाओं को प्राथमिकता के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ वह युवा भी उठा सकते हैं जो ओवर एज हो गए हैं। ओवर एज का मतलब है कि अब उनकी सरकारी नौकरियों के लिए आवेदन करने की उम्र अब खत्म हो चुकी है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम उनकी जिंदगी को पूरी तरह बदलकर रख देगा।
  • इस योजना के तहत 102 तरह के ट्रेड का प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • जिला सेवायोजन कार्यालय में पंजीकृत अभ्यर्थी इस योजना के लिए अर्ह माने जाएंगे। उनको भी अलग से आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

idbi

आईडीबीआई भर्ती 2019 । IDBI Recruitment 2019

बैंकों में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए अच्छी खबर है। इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट …