Breaking News
Home / pradhanmantri yojana / sarkari yojana / MP government / मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना । Mukhyamantri tirth darshan yojana in hindi

मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना । Mukhyamantri tirth darshan yojana in hindi

मध्य प्रदेश सरकार ने बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा पर जाने की कामना को पूरा करने का प्रबंध कर लिया है। सरकार ने 60 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुके वरिष्ठ नागरिकों के लिए चिह्नित तीर्थ स्थलों में से किसी एक की यात्रा फ्री में करवाने की व्यवस्था कर दी है।

यात्रियों को रेल यात्रा से लेकर खाने, गाइड की सुविधा भी मध्य प्रदेश सरकार के धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग से अनुबंधित इंडियन रेलवे कैटेरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन लिमिटेड की ओर से मुहैया करवाई जाती है। मध्य प्रदेश सरकार की ओर से योजना को शुरू करने के बाद अन्य राज्यों ने भी तीर्थ यात्रा योजना शुरू की है।

mp

तीर्थ स्थलों की सूची

  • बद्रीनाथ
  • केदारनाथ
  • जगन्नाथपुरी
  • द्वारकापुरी
  • हरिद्वार
  • अमरनाथ
  • वैष्णोदेवी
  • शिरडी
  • तिरुपति बाला जी
  • अमजेर शरीफ
  • वाराणसी
  • गया
  • अमृतसर
  • रामेश्वरम
  • सम्मेद शिखर
  • श्रवणबेलगोला
  • वेकाकानी चर्च, नगापट्टनम
  • गंगासागर
  • कामाख्या देवी
  • गिरनार जी
  • पटना साहिब
  • मध्य प्रदेश के तीर्थ स्थल उज्जैन, मैहर, श्री रामराजा मंदिर, ओरछा, चित्रकूट
  • आंकारेश्वर, महेश्वर और मुडवारा 

पात्रता

  • तीर्थ यात्रा योजना के लिए वही वरिष्ठ नागरिक आवेदन कर सकते हैं जो मध्य प्रदेश के मूल निवासी हों।
  • आवेदन को आयकरदाता नहीं होना चाहिए।
  • पुरुष आवेदक 60 वर्ष की आयु पूर्ण कर चुका हो।
  • महिला आवेदक को दो वर्ष की छूट प्रदान की जाएगी।
  • दिव्यांग नागरिक जिनकी विकलांगता 60 प्रतिशत से अधिक है, उनके लिए आयु का बंधन नहीं है।
  • पति-पत्नी में से किसी एक के भी पात्रता की शर्तें पूरी करने पर दूसरा उसके साथ यात्रा पर जा सकता है भले ही उसकी आयु 60 वर्ष से कम हो।
  • ऊपर दी गई सूची में से ही आवेदक को किसी एक तीर्थ का चयन करना होगा।
  • तीर्थ यात्रा के लिए समूह बनाकर भी आवेदन किया जा सकता है। एक समूह में 25 से अधिक लोग नहीं हो सकते। उनका मुखिया ही आवेदक माना जाएगा।
  • एक यात्रा करने के बाद दूसरी यात्रा का सरकार की तरफ से मौका पांच साल बाद दिया जाएगा। दोबारा वे नए तीर्थ स्थलों पर जा सकेंगे।
  • यात्रा के लिए शारीरिक एवं मानिसक रूप से सक्षम होना जरूरी है। टीबी, हृदय रोग, श्वास संबंधी रोगी, मानसिक व्याधि, संक्रमण व एवं कुष्ठ रोगियों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।

आवेदन प्रक्रिया

  • आवेदन पत्र को दो प्रतियों में भरना होगा। आवेदन पत्र को हिंदी में ही भरा जाना है।
  • आवेदन पत्र पर दिए गए स्थान पर नवीनतम फोटो को लगाएं।
  • निवास प्रमाण को भी संलग्न करें। पते के प्रमाण पत्र के तौर पर वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, बिजली बिल, निवास से संबंधित कोई अन्य दस्तावेज लगा सकते हैं।
  • आपको फार्म में दो लोगों को पता व मोबाइल नंबर भी देना होगा जिनसे आपात स्थिति में संपर्क किया जा सके।
  • आवेदन पत्र आप तहसील, उप तहसील कार्यालय में जमा कर सकते हैं।
  • प्रशासनिक व्यवस्था एवं जन सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर द्वारा नियत स्थान जैसे नगर पालिका, नगर निगम, जिला पंचायत कार्यालय में भी फार्म जमा करने की व्यवस्था की जा सकती है।
  • कलेक्टर आवेदन पत्र प्राप्त करने की व्यवस्था करेंगे। यात्रियों को टिकट वितरण करवाना और प्लेटफार्म से विशेष ट्रेन में यात्रियों के बैठने की व्यवस्था करने का काम भी कलेक्टर के जिम्मे डाला गया है।

 सहायक की पात्रता

  • 65 साल से अधिक आयु के पति व पत्नी और 60 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगता वाले व्यक्ति अपने साथ सहायक यानि केयर टेकर ले जा सकते हैं।
  • यात्रा के लिए जाने वाले समूह में तीन से पांच व्यक्तियों पर एक सहायक को रखा जा सकेगा।
  • यात्रा के दौरान आपकाे ज्वलनशील एवं मादक पदार्थों को साथ में ले जाने की अनुमति नहीं मिलेगी।
  • यात्रा के दौरान आभूषण एवं रत्न न ले जाएं। संपर्क एवं अनुरक्षक के निर्देशों का पालन करें।
  • परिचय पत्र को साथ में रखें।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

idbi

आईडीबीआई भर्ती 2019 । IDBI Recruitment 2019

बैंकों में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए अच्छी खबर है। इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट …