Home / pradhanmantri yojana / sarkari yojana / पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना । post metric scholarship scheme in Hindi

पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना । post metric scholarship scheme in Hindi

जिस प्रदेश में शिक्षण व्यवस्था अच्छी होगी, वहां तरक्की जल्दी आएगी। दुनिया के जिस भी देश ने तरक्की की है, उसकी जड़ में वहां का बेहतर एजूकेशन सिस्टम है। यूरोप और अमेरिका जैसे महाद्वीपों से जुड़े देशों ने एजूकेशन सिस्टम पर ध्यान दिया। छात्रों को स्कॉलरशिप प्रदान किया, जिसकी वजह से युवाओं के लिए पढ़ाई करना आसान हो गया। उत्तराखंड सरकार ने भी छात्रों के भविष्य के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना शुरू की है।

इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड में भी पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत विद्यार्थियों को वजीफा तो दिया जा ही रहा है, उन्हें बेहतर भविष्य के लिए नए-नए रास्ते भी सुझाए जा रहे हैं। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि इस योजना में क्या है और आप किस तरह इससे फायदा हासिल कर सकते हैं।

 

 

पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के फायदे

  • उत्तराखंड सरकार की ओर से शुरू की गई पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना के तहत हाईस्कूल पास छात्र और छात्राओं को वजीफा प्रदान किया जाता है।
  • इस योजना के तहत छात्रों और छात्राओं को दस हजार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने का प्रावधान है।
  • योजना का लाभ हर साल दिया जाएगा। छात्रवृत्ति तभी मिलेगी, जब छात्र और छात्राएं हाइस्कूल की परीक्षा पास करने के बाद कक्षा 11 और 12 में दाखिला लेंगे।
  • उन्हें योजना का लाभ हासिल करने के लिए जिले के मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान में दाखिला लेना पड़ेगा।

योजना के लिए पात्रता

  • योजना का लाभ उन्हीं को मिलेगा, जो मूल रूप से उत्तराखंड के निवासी होंगे। किसी दूसरे प्रदेश के निवासियों को इस योजना का फायदा नहीं मिलेगा।
  • इस योजना का फायदा सिर्फ उन्हीं छात्रों और छात्राओं को मिलेगा, जो अनुसूचित जन जाति, अन्य पिछड़ा वर्ग और विकलांग वर्ग से संबंध रखते होंगे।
  • योजना का लाभ हासिल करने के लिस छात्रों और छात्राओं को दसवीं कक्षा पास करने के बाद 11 या 12वीं कक्षा में दाखिला लेना होगा।
  • इस योजना के तहत उन्हीं विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी, जो किसी दूसरी स्कीम के तहत फायदा न उठा रहे हों।

योजना के लिए दस्तावेज

  1. उत्तराखंड में जो भी विद्यार्थी इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, उनके पास वोटर आईडी कार्ड होना चाहिए।
  2. अगर किसी कारणवश उनके पास वोटर आईडी कार्ड नहीं है तो वे आधार कार्ड की कॉपी भी लगा सकते हैं।
  3. पासपोर्ट साइज की फोटो भी फार्म के साथ अटैच करना होगा। अगर बीपीएल और एपीएल कार्ड हो तो उसकी कॉपी भी फार्म के साथ अटैच कर सकते हैं।
  4. इसी तरह इस योजना का लाभ लेने के लिए छात्र और छात्राओं को मूल निवास प्रमाणपत्र भी फार्म के साथ अटैच करना होगा।

ऑनलाइन आवेदन करें

  • उत्तराखंड सरकार की ओर से शुरू की गई इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।
  • अगर आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो आपको सरकार की अफीशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • इस वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद आपको इसके होम पेज पर योजना का लिंक दिख जाएगा। इस पर क्लिक करना होगा। यहां नई विंडो ओपन हो जाएगी।
  • फार्म को पढ़ने के बाद आपसे इस योजना से जुड़ी जो भी जानकारी मांगी जा रही है, उसे फार्म पर दर्ज करें।
  • फार्म पर योजना से जुड़े जो भी कॉलम दिखाई पड़े, उसे सही-सही भरें। गड़बड़ी होने पर फार्म सबमिट नहीं होगा।
  • सभी कॉलम ठीक तरह से भरने के बाद आपको सबमिट का ऑप्शन दिखाई पड़ेगा, जिसपर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करते ही फार्म भरने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। आप इसका प्रिंट आउट भी अपने पास रख सकते हैं।

पढ़ाई की राह होगी आसान

सरकार की ओर से शुरू की गई पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना की वजह से विद्यार्थियों के लिए पढ़ाई की राह आसान हो रही है। छात्रों को दाखिले के सरकार की तरफ से दस हजार रुपये तक की वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है। इसकी वजह से उनके परिवार पर खर्च का बोझ कम हो रहा है। अनुसूचित, अन्य पिछड़ा और विकलांग छात्र, जिनके लिए फीस की रकम जुटाना काफी मुश्किल होता था। सरकार की इस पहल की वजह से उनकी मुश्किलें आसान हो गई हैं।

कॉलेज को ट्रांसफर होगी छात्रवृत्ति

सरकार से मिलने वाली छात्रवृत्ति की रकम सीधे कॉलेज को ट्रांसफर की जाएगी। छात्रों को फार्म के साथ एडमिशन कार्ड, पहचान पत्र की कॉपी को भी अटैच करना होगा। जब सभी तरह की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी और सरकार की ओर से छात्रवृत्ति को मंजूर कर दिया जाएगा तो इसकी जानकारी कॉलेज को भी भेजी जाएगी। साथ ही वजीफे की रकम भी कॉलेज के खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी। सरकार की कोशिश है कि इस योजना के तहत किसी तरह की गड़बड़ी सामन न आए।

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

ssc chsl recruitment

एसएससी सीएचएसएल भर्ती-2019 । SSC CHSL recruitment-2019

एसएससी विभिन्न पदों पर बंपर भर्ती करने जा रहा है। इसमें सीएचएसएल यानी कंबाइंड हायर …