Home / pradhanmantri yojana / sarkari yojana / Rajasthan / राजस्थान तारबंदी योजना । rajasthan tarbandi yojana in Hindi

राजस्थान तारबंदी योजना । rajasthan tarbandi yojana in Hindi

राजस्थान सरकार ने किसानों के लिए कई योजनाएं शुरू की है। इन योजनाओं में किसान तारबंदी योजना भी शामिल है। इस योजना के तहत किसानों को उनकी फसल बचाने के लिए लोन दिया जाएगा। लोन की रकम का इस्तेमाल कर वे अपनी खेतिहर जमीन पर तारबंदी कर सकते हैं। तारबंदी की वजह से आवारा पशु उनके खेतों के अंदर नहीं जा सकेंगे, जिसकी वजह से उनकी फसल को कोई नुकसान भी नहीं हो सकेगा। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि तारबंदी योजना क्या है और इस योजना का फायदा किस तरह हासिल कर सकते हैं।

योजना के लिए पात्रता

  • राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई तारबंदी योजना योजना का लाभ उन्हीं किसानों को मिल सकता है, जो मूल रूप से राजस्थान के निवासी हों।
  • दूसरे प्रदेशों के किसानों को इस योजना के तहत लाभाविंत नहीं किया जा सकता है। सरकार ने इससे जुड़ा सर्कुलर संबंधित विभागों को भेज दिया है।
  • तारबंदी योजना का लाभ लेने के लिए किसानों के पास कम से कम 0.5 हेक्टेयर कृषि भूमि होनी चाहिए।
  • इस योजना के तहत किसानों को 50 फीसदी तक की सहायता राज्य सरकार की तरफ से दी जाएगी। इसका नोटिफिकेशन भी जारी किया जा चुका है।
  • अगर किसी किसान को किसी दूसरी योजना के तहत फायदा मिल रहा है तो वे इसके लिए पात्र नहीं है।
  • सिर्फ उन्हीं किसानों को इस योजना का लाभ मिल सकेगा, जिन्हें फिलहाल किसी भी योजना के तहत फायदा नहीं मिल रहा है।
  • इसी तरह इस योजना के तहत किसानों को लोन के रूप में 40 हजार रुपये मंजूर किए जाएंगे। ध्यान रहे कि किसानों को पहले तारबंदी के लिए 50 फीसदी की राशि खुद खर्च करनी होगी।
  • खुद की तरफ से 50 फीसदी राशि खर्च करने के बाद ही किसानों को लोन के रूप में 40 हजार रुपये मंजूर किए जाएंगे।

बैंक में ट्रांसफर होगी रकम

राजस्थान सरकार ने साफ कर दिया है कि तारंबदी योजना का लाभ उन्हीं किसानों को मिलेगा, जिनके पास अपना बैंक खाता होगा। लोन की रकम सीधे बैंकों में भेजी जाएगी। किसान किसी भी राष्ट्रीयकृत या सहकारी बैंकों में अपना खाता खुलवा सकते हैं। किसानों को योजना का लाभ लेने के लिए फार्म पर बैंक खाता विवरण देना होगा।

सरकारी नुमाइंदों का यह भी कहना है कि इसके लिए किसानों के खाते खुलवाए जाएंगे। जिनके पास खाते नहीं है, उन्हें जरा भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। इसका मकसद यही है कि योजना के तहत किसी भी तरह का फर्जीवाड़ा समाने न आ सके।

योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  1. किसान का आधार कार्ड
  2. राशन कार्ड
  3. छह महीने पुरानी जमाबंदी
  4. एक हलफनामा
  5. पासपोर्ट साइज फोटो

योजना की खास बातें

  • राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई तारबंदी योजना मुख्य रूप से किसानों के लिए है। इस योजना के तहत किसानों को 40 हजार रुपये तक लोन दिया जाएगा।
  • राजस्थान सरकार ने इस योजना के तहत करीब आठ करोड़ रुपये वित्तीय सहायत के रूप में खर्च करने की तैयारी की है।
  • सरकार द्वारा जमीन की पैमाइश भी कर ली गई है। करीब आठ लाख स्कवायर मीटर क्षेत्र को इसके लिए मंजूरी दे दी गई है।

ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं

  1. राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई तारबंदी योजना के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से आवेदन किए जा सकते हैं।
  2. अगर आप ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो राजस्थान सरकार की अफीशियल वेबसाइट पर विजिट करें।
  3. वेबसाइट पर विजिट करने के बाद आपको राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई तारबंदी योजन का ऑप्शन दिख जाएगा।
  4. इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको एप्लीकेशन फार्म दिखाई पड़ेगा, जिसमें कई अहम कॉलम दर्ज होंगे।
  5. सभी कॉलम को पहले ध्यानपूवर्क पढ़ें और फिर इसके बाद कॉलम को भरना शुरू करें। सभी कॉलम को ठीक से भरें।
  6. कॉलम को भरने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आपके सामने सबमिट का ऑप्शन आ जाएगा। इसपर क्लिक कर दीजिए।
  7. प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। इसके बाद आप इसका प्रिंट आउट भी अपने पास रख सकते हैं। कभी-कभी काम आता है।

ऑफलाइन आवेदन भी

  • अगर आप इस योजना के तहत ऑफलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो सुविधा अनुसार केंद्र में फार्म हासिल कर सकते हैं।
  • ग्रामीण इलाकों में मौजूद किसान पंचायत समिति, पंचायत भवन से इस योजना का फार्म हासिल कर सकते हैं।
  • फार्म मिलने के बाद उसे ठीक तरह से भरें। फार्म में जो भी जानकारी मांगी गई है, उन्हें दर्ज करें। फार्म में गलती होने पर वह निरस्त हो जाएगा।
  • फार्म के सभी कॉलम को भरने के बाद उसपर अपनी फोटो भी चस्पा करें। इसके बाद संबंधित विभाग में जमा कर दें।

लहलहाएगी फसलें

तारबंदी योजना का मकसद किसानों की फसल को बचाना है। किसान आवारा पशुओं से काफी परेशान हैं। इसकी वजह से उनकी फसलें चौपट हो जाती हैं। पशु उनकी फसलों को खा लेते हैं। कभी-कभी वे फसलों को रौंदकर आगे बढ़ जाते हैं, जिसकी वजह से किसानों को काफी नुकसान होता है।

सरकारी नुमाइंदों का मानना है कि इस योजना के तहत मिलने वाले लोन की रकम से किसान जमीन की हदबंदी कर सकते हैं। वे खेतिहर जमीन के चारों तरफ लोहे का जाल बांध सकेंगे, जिसकी वजह से जानवर उनकी फसलों तक नहीं पहुंच सकते हैं। हालांकि किसानों को इसके लिए खुद पहल करनी होगी। पहले वे अपनी जमीन पर तारबंदी के लिए फीसदी राशि खर्च करें। इसके बाद सरकार उन्हें लोन देगी।

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

ssc chsl recruitment

एसएससी सीएचएसएल भर्ती-2019 । SSC CHSL recruitment-2019

एसएससी विभिन्न पदों पर बंपर भर्ती करने जा रहा है। इसमें सीएचएसएल यानी कंबाइंड हायर …