Home / pradhanmantri yojana / sarkari yojana / Delhi / दिल्ली तीर्थ यात्रा योजना । Delhi teerth yatra yojana in hindi

दिल्ली तीर्थ यात्रा योजना । Delhi teerth yatra yojana in hindi

मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की तर्ज पर दिल्ली की सरकार ने भी मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना की शुरुआत की है। इसके तहत बुजुर्गों को चयनित तीर्थ स्थलों की मुफ्त यात्रा करवाई जाती है। लोगों को ले जाने और वापस दिल्ली तक लाने का पूरा खर्च दिल्ली सरकार वहन करती है। इस योजना के तहत हर साल 77000 बुजुर्गों को तीर्थी यात्रा करवाने का लक्ष्य रखा गया है।

delhi

तीर्थ यात्रा करवाने की योजना मध्य प्रदेश में बहुत पहले से चल रही है। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद इस मॉडल को अपनाया गया। दोनों राज्यों की देखादेखी अन्य राज्यों ने भी इस तरह की योजनाओं की शुरुआत की है। सरकारें अपने राज्य के बुजुर्गों को फ्री में तीर्थ यात्रा करवाती हैं। अब दिल्ली में भी इस योजना की शुरुआत हो चुकी है।

इस योजना के तहत हर वर्ग से 1100 बुजुर्गों का चयन तीर्थ यात्रा के लिए किया जाएगा। बुजुर्गों की सुविधा के लिए उनको एक सहायक को भी साथ लेने की अनुमति दी गई है। सहायक का भी यात्रा में आने वाला खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। यात्रा ट्रेन से करवाई जाती है और रुकने का प्रबंध सरकार की तरफ से तीर्थ स्थल के होटल या टूरिस्ट कैंप में किया जाता है। खाने, पीने व ठहरने पर आने वाले खर्च को भी राज्य सरकार चुकाती है।

दिल्ली तीर्थ यात्रा योजना के नियम

  • इस योजना का लाभ उसी बुजुर्ग को मिलेगा जो दिल्ली का मूल निवासी होगा। आवेदक के पास दिल्ली में निवास करने का प्रमाण पत्र भी होना चाहिए।
  • आवेदक की आयु कम से कम 60 वर्ष होनी चाहिए। अधिकतम की कोई सीमा नहीं है।
  • आवेदक को यात्रा के लिए फार्म भरते वक्त बताना होगा कि उसको कौन-कौन सी बीमारी है। हृदय, श्वास व गठिया आदि रोगों का उल्लेख अलग से करना होगा।
  • आवेदक को किसी संक्रामक रोग जैसे फ्लू, खसरा, डायरिया, वायरल बुखार, मलेरिया, डेंगू से ग्रसित नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर लोगों को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • यात्रा के लिए आवेदन करने वाले व्यक्ति को साथ में एक सहायक को ले जाने की भी अनुमति होगी। सहायक की उम्र 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए। आवेदक की आयु 18 साल से कम होने पर उसको यात्रा की अनुमति नही दी जाएगी।
  • सहायक को भी संक्रामक रोग से ग्रसित नहीं होना चाहिए। उसे भी हृदय व श्वास संबंधी रोग नहीं होने चाहिए।
  • आवेदक को यात्रा के दौरान शराब या अन्य मादक पदार्थ को साथ रखने या सेवन की अनुमति नहीं दी जाएगी।
  • यात्रा से पहले दिल्ली सरकार की ओर से बुजुर्ग यात्री को एक बुकलेट भी दी जाएगी। इसमें लिखा होगा कि यात्रा के दौरान क्या करना है और क्या नहीं करना है।
  • किसी अन्य बीमारी से पीड़ित होने पर इसका भी उल्लेख करना होगा और डॉक्टर के परामर्श के अनुसार दवाओं को भी साथ रखना होगा।
  • सहायक की जिम्मेदारी होगी कि वो बुजुर्ग यात्री को समय पर दवाएं दें व उनको भोजन करवाएं।
  • यात्री के लिए आय की सीमा भी निर्धारित की गई है। यात्री की वार्षिक आय सालाना तीन लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • पति व पत्नी दोनों अगर सीनियर सिटिजन हैं तो तीर्थ यात्रा के लिए एक साथ आवेदन कर सकते हैं।

ऐसे करें आवेदन

  • दिल्ली सरकार ने तीर्थ यात्रा का प्रबंध करने का जिम्मा सामाजिक सुरक्षा और कल्याण विभाग को सौंपा है। तीर्थ यात्रा के लिए 4,155 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है।
  • आवेदक को तीर्थ यात्रा समिति के कार्यालय से जाकर तीर्थ यात्रा का फार्म प्राप्त करना होगा।
  • फार्म को ठीक से भरें और साथ में आधार कार्ड को संलग्न करें। अगर आवेदक रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी होगा तो वह आवेदन नहीं कर सकता है।
  • अगर पति व पत्नी एक साथ यात्रा कर रहे हैं तो दोनों एक ही फार्म का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • समूह में भी यात्रा की जा सकती है। अगर कई बुजुर्ग एक साथ यात्रा पर जाना चाहते हैं तो वे समूह यात्रा का फार्म भरें।
  • इसमें सभी आवेदकों का नाम, उम्र व पता भरना होगा। एक व्यक्ति को मुखिया नियुक्त करना होगा। यात्रा के दौरान सारे निर्देश मुखिया को ही दिए जाएंगे और इसका पालन करवाना, उसकी जिम्मेदारी होगी।
  • सभी आवेदक को अपने आय का प्रमाण पत्र भी संलग्न करना होगा। आय तीन लाख रुपये सालाना से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • आवेदकों का चयन लकी ड्रा के माध्यम से होगा। लकी ड्रा सबके सामने निकाला जाएगा।
  • क्षेत्र के विधायक को चयनित तीर्थ यात्री के निवास के प्रमाण पत्र को सत्यापित  करना होगा।
  • विधायक के कार्यालय से भी तीर्थ यात्रा योजना का फार्म प्राप्त व जमा किया जा सकता है।
  • फार्म को सामाजिक सुरक्षा एवं कल्याण विभाग की ऑफिशयल वेबसाइट से भी डाउनलोड किया जा सकता है।

इन स्थलों की कर सकते हैं यात्रा

  • मथुरा व वृंदावन
  • आगरा, फतेहपुर सीकरी
  • हरिद्वार, ऋषिकेश
  • नीलकंठ
  • अजमेर व पुष्कर
  • अमृतसर, बाघा बार्डर, आनंदपुर साहिब, स्वर्ण मंदिर
  • वैष्णो देवी, जम्मू

इन दस्तावेजों की पड़ेगी जरूरत

  • आधार कार्ड या अन्य पहचान पत्र
  • आवास प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक पास बुक की फोटो कॉपी
  • स्वास्थ्य का प्रमाण पत्र
  • संक्रामक रोगों के न होने का प्रमाण पत्र
  • पत्नी की आयु का प्रमाण पत्र

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

annapoorna yojana

राजस्थान अन्नपूर्णा रसोई योजना । rajasthan annapoorna rasoi yojana in Hindi

राजस्थान सरकार गरीबों के लिए गंभीर है। किसानों से लेकर मजदूरों तक के लिए ढेर …