Home / pradhanmantri yojana / सुकन्या समृद्धि योजना । sukanya samriddhi yojana in hindi

सुकन्या समृद्धि योजना । sukanya samriddhi yojana in hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को और आगे बढ़ाने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत की है। इस योजना को बेटियों के नाम पर बचत को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है। मात्र एक हजार रुपये प्रतिमाह की बचत से कोई भी व्यक्ति इस योजना को शुरू कर सकता है। सही समय पर बचत की शुरुआत करने वालों को बेटी के 21 वर्ष का होने पर इतने रुपये मिल जाएंगे ताकि बेटी की शिक्षा या विवाह का इंतजाम करने में उनको कोई दिक्कत न हो।

इस योजना की शुरुआत 2015 में की गई थी। यह प्रधानमंत्री की सबसे पसंदीदा योजनाओं में से एक है। इस पर वर्तमान में 8.5 प्रतिशत का ब्याज दिया जा रहा है। बेटी के नाम पर इस योजना में लोग साल भर में 12 हजार रुपये से लेकर डेढ़ लाख रुपये तक जमा करा सकते हैं। इस योजना पर अन्य बचत योजनाओं की तुलना में काफी आकर्षक ब्याज दिया जा रहा है।

yojana

किस आयु में खुलवा सकते हैं सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता

खाता खुलवाने के लिए अधिकतम आयु सीमा 10 वर्ष निर्धारित की गई है। यानि बेटी की उम्र अगर 10 साल हो गई है तो उसके नाम से सुकन्या समृद्धि योजना को शुरू नहीं किया जा सकता। न्यूनतम आयु की कोई सीमा नहीं है। बेटी के जन्म लेते ही इस योजना के तहत उसका खाता किसी भी सरकारी या प्राइवेट बैंक या डाक घर में खुलवाया जा सकता है।

लोग अपनी आमदनी के हिसाब से साल के 12 हजार रुपये से लेकर डेढ़ हजार रुपये के बीच का कोई भी विकल्प चुन सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलने वाले खाते से बीच में पैसा निकालने का कोई रास्ता नहीं है। विशेष परिस्थितयों में छूट मिलत सकती है लेकिन इसमें जमा रुपये तभी मिलेंगे जब बेटी 21 साल की हो जाएगी।

विशेष परिस्थितियों में बेटी की उम्र 18 साल होने पर भी रुपये निकाले जा सकते हैं। वह शर्तें क्या है, इसकी जानकारी आपको आर्टिकल के नीचे के हिस्से में मिलेगी। अगर किसी व्यक्ति की दो बेटियां हैं तो वह उन दोनों के नाम से सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खुलवा सकता है। एक व्यक्ति अधिकतम दो कन्याओं के नाम पर ही सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाते खुलवा सक है। तीन खाते तभी खोले जा सकते हैं जब दो बेटियां जुड़वा हों। यानि तीन बेटियां हों।

जरूरी दस्तावेज

  • बेटी का डेट ऑफ बर्थ सर्टिफिकेट
  • पिता या अभिभावक का परिचय पत्र
  • पिता या अभिभावक के पते का प्रमाण पत्र
  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • बैंक डिटेल

नियम और खासियतें

  • इस योजना के तहत खाता खुलवाने पर हर महीने मिनिमम एक हजार रुपये का निवेश करना होगा। इससे कम पर यह योजना शुरू नहीं होगी।
  • यदि आपने साल भर में एक ही किस्त जमा की है तो आपका खाता बंद कर दिया जाएगा। ऐसा होने पर 50 रुपये का फाइन भी लगेगा।
  • अकाउंट में आप रुपये नगद, ऑटो स्वीप, चेक, डिमांड ड्राफ्ट, नेट बैंकिग के जरिए जमा कर सकते हैं।
  • 2015 में जब यह योजना शुरू की गई तो 9.1 प्रतिशत का ब्याज दिया जाता था। वर्तमान में दर 8.5 प्रतिशत है। सरकार इसे हर साल रिवाइज करती है।
  • अन्य बचत योजनाओं की तुलना में इस पर सरकार ज्यादा ब्याज दे रही है। इसमें निवेश पूरी तरह सुरक्षित है। सरकारी इसमें गाॅरंटी है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत जमा की जाने वाली राशि इनकम टैक्स की धारा 80 सी के अंतर्गत आती है। इस पर मिलने वाला ब्याज टैक्स फ्री होता है।
  • साल में एक बार में ही सारा अमाउंट जमा करने की सुविधा भी दी जा रही है। आप चाहें तो हर साल 5 अप्रैल से पहले साल भर की किस्त एक साथ दे सकते हैं।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलने वाले खाते ट्रांसफर किए जा सकते हैं।
  • अकाउंट को किसी भी दूसरे शहर या ब्रांच में ट्रांसफर करवा सकते हैं।
  • कन्या की मृत्यु होने या मृत्यु का संकट उत्पन्न होने पर अकाउंट को बंद कर समय से पहले ही पैसा निकाला जा सकता है। इसके लिए बीमारी या मृत्यु का प्रमाण पत्र देना होगा।
  • क्रेडिट के रूप में 50 प्रतिशत राशि निकाली जा सकती है लेकिन शर्त है कि निकासी बेटी को पढ़ाने के लिए की जा रही है।
  • बेटी की शादी यदि 18 से 21 साल के बीच में कर दी जाती है तो अकाउंट बंद दिया जाएगा।

इन बैंकों में करें आवेदन

  1. विजया बैंक
  2. यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  3. युनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  4. यूको बैंक
  5. स्टेट बैंक ऑफ त्रवंकोरे
  6. सिंडिकेट बैंक
  7. स्टेट बैंक ऑफ पटियाला
  8. स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
  9. स्टेट बैंक ऑफ मैसूर
  10. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  11. पंजाब नेशनल बैंक
  12. स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर
  13. पंजाब एंड सिंध बैंक
  14. इंडियन ओवरसीज बैंक
  15. ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स
  16. इंडियन बैंक
  17. आईसीआईसीआई बैंक
  18. आईडीबीआई बैंक
  19. देना बैंक
  20. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  21. कारपोरेशन बैंक
  22. केनरा बैंक
  23. बैंक ऑफ इंडिया
  24. बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  25. बैंक ऑफ बड़ौदा
  26. आंध्रा बैंक
  27. एक्सिस बैंक
  28. इलाहाबाद बैंक
  29. पोस्ट ऑफिस

ऑनलाइन आवेदन

  • अगर आप ऑनलाइन ऑवेदन करना चाहते हैं तो ऊपर दिए गए बैंक की ऑफिशयल वेबसाइट पर जाएं। होम पेज पर आपको सुकन्या समृद्धि योजना का लिंक मिलेगा। इसको ओपन करते ही आप दूसरे पेज पर पहुंच जाएंगे।
  • इसके बाद गेट द रजिस्ट्रेशन का बटन दबाएं। फार्म को भरने के बाद पते का प्रमाण पत्र, पहचान का प्रमाण पत्र, माता व पिता का पहचान पत्र, बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र अपलोड करें।
  • इसके बाद पैन कार्ड एवं आधार कार्ड को अपलोड करें और बैंक की डिटेल भरें।
  • सारे प्वाइंट्स को भरने के बाद सबमिट का बटन दबा दें। नेट बैंकिंग के जरिए आप पहली किस्त को जमा कर दें।
  • इसी में आपको मंथली व एनुअल इन्वेस्टमेंट का ऑप्शन मिलेगा।
  • आप ऑटो डेबिट का भी ऑप्शन दे सकते हैं। आपको नेट बैंकिग के जरिए भी हर महीने भुगतान की सुविधा मिलेगी।

ऑफलाइन

  • बैंक से आवेदन पत्र ले आएं। इसमें सारी डिटेल भरें।
  • आवेदक अपना आईडी व एड्रेस प्रूफ का प्रमाण पत्र संलग्न करे।
  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र व आधार कार्ड हो तो उसकी भी प्रति लगाएं।
  • फार्म को बैंक में जमा कर दें।
  • खाता खोलने के बाद आपको पास बुक प्रदान की जाएगी।
  • इसी पासबुक में आपके द्वारा किए गए निवेश की पूरी डिटेल होगी।

योजना का लाभ

यदि कोई व्यक्ति बच्ची के जन्म के समय से ही सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खुलवाता है तो वह बेटी के 21 साल का होने तक बड़ी बचत कर लेगा। जो लोग 14 साल तक हर महीने एक हजार रुपये जमा करेंगे, उनको रिटर्न 10 लाख रुपये से अधिक मिलेगा। इसी तरह जो लोग सालाना डेढ़ लाख 14 साल तक जमा करेंगे, उनको रकम तीना गुना तक वापस होकर वापस मिलेगी। इससे बेटी की आगे की पढ़ाई का खर्च निकाला जा सकेगा।

पिता को उसकी शादी के लिए लोन लेने या किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेटी को आगे पढ़ाने व उसे आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस योजना की शुरुआत की थी। इससे अब तक लाखों लोग जुड़ चुके हैं। यह संख्या रोज बढ़ ही रही है।

आप भी अगर बेटी के पिता हैं तो अब बहुत विचार न करें। इस योजना में निवेश करें। अगर आप मार्केट के सिस्टेमिटक इन्वेस्टमेंट प्लान के बारे में सोच रहे हैं तो जान लीजिए कि उसमें रिस्क बहुत है। जिस तरह से मार्केट ऊपर नीचे जा रहा है, उससे आपको जमा धन ही वापस मिल जाए तो गनीमत समझिए।

सुकन्या समृद्धि योजना में किसी तरह का रिस्क नहीं है। सरकार की गॉरंटी तो है ही, इसमें मार्केट का कोई जाेखिम भी नहीं है। सरकार का फोकस अब भी सुकन्या समृद्धि योजना है। योजना को आरंभ हुए चार वर्ष बीत जाने के बाद भी बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत  सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा है।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

ssc chsl recruitment

एसएससी सीएचएसएल भर्ती-2019 । SSC CHSL recruitment-2019

एसएससी विभिन्न पदों पर बंपर भर्ती करने जा रहा है। इसमें सीएचएसएल यानी कंबाइंड हायर …