Home / sarkari naukri / डाक विभाग भर्ती 2019। Postal Department recruitment 2019

डाक विभाग भर्ती 2019। Postal Department recruitment 2019

डाक विभाग में दसवीं पास युवाओं को भर्ती का एक और मौका प्रदान किया गया है। आवेदन की आखिरी तारीख को 4 सितंबर से बढ़ाकर 11 सितंबर कर दिया गया है। अब मौका चूके तो दोबारा ऐसा सुनहरा अवसर नहीं मिलने वाला। भर्ती विभिन्न सर्किल में 10066 पदों पर हो रही है। Postal Department recruitment 2019 के लिए कैसे अप्लाई करना है, इसका तरीका जान लीजिए।

postal

आपको आवेदन करने के लिए कहीं भागदौड़ नहीं करनी है। आपको आवेदन ऑनलाइन करना होगा। ऑनलाइन आवेदन के लिए लिंक आपको इसी आर्टिकल के आखिर में मिलेगा। इससे पहले आप पदों के बारे विस्तार से जानकारी हासिल कर लीजिए।

डाक विभाग भर्ती 2019 की पूरी जानकारी । Postal Department Recruitment 2019

  • कर्नाटक पोस्टल सर्किल में 2637 से अधिक पदों पर भर्ती निकाली गई है। आवेदन के इच्छुक अभ्यर्थी 11 सितंबर से पहले ऑनलाइन आवेदन कर दें।
  • असम में ग्रामीण डाक सेवक के 919 पदों को भरा जाना है। इसके लिए भी आवेदन की तिथि को चार सितंबर से बढ़ाकर 11 सितंबर कर दिया गया है।
  • पंजाब सर्किल के अंतर्गत निकाली गई रिक्तियों के लिए भी आवेदन की प्रक्रिया 11 सितंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है।
  • बिहार में ग्रामीण डाक सेेवक के 1063 पदों को भरा जाना है। इसके आवेदन की तारीख को भी 4 सितंबर से बढ़ाकर 11 सितंबर कर दिया गया है।
  • ऐसा ही केरल व गुजरात सर्किल में भी किया गया है। गुजरात सर्किल में ग्रामीण डाक सेवक के 2510 और केरल में 2086 पद भरे जाने हैं। कनौटक सर्किल में भी 2637 पद रिक्त हैं।
  • आवेदक की आयु 18 से 40 साल के बीच होनी चाहिए। अगर उम्र 18 साल से कम है तो मौका नहीं मिलेगा। उम्र के 40 से ज्यादा होने पर भी आवेदन पत्र रिजेक्ट हो जाएगा।
  • सामान्य, ओबीसी व ईडब्ल्यूएस श्रेणी के उम्मीदवारों को 100 रुपये का शुल्क देना होगा।
  • एससी, एसटी व पीडब्ल्यूडी उम्मीदवारों को कोई शुल्क नहीं देना होगा। आवेदक को हर सर्किल के लिए अलग से आवेदन करना होगा।
  • ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहां पर क्लिक करें

डाक विभाग का इतिहास

  • डाक विभाग में नौकरी के लिए आवेदन करने जा रहे हैं तो इसका इतिहास भी जान लीजिए। अब इसका इतना महत्व नहीं रहा लेकिन एक वक्त था जब डाक ही संचार का सबसे बड़ा माध्यम होता था।
  • 1766 में लार्ड क्लाइव ने भारत में डाक सेवा की शुरुआत की थी। पहली बार पत्र को एक शहर से दूसरे शहर रजिर्स्ड करके भेजा गया था।
  • 1774 में वारेन हेस्टिंग्स ने देश के पहले डाकघर की स्थापना कोलकाता में की थी।
  • 1786 में मद्रास में प्रधान डाकघर की स्थापना की गई। 1793 में मुंबई में प्रधान डाकघर खोला गया।
  • 1854 में भारत में पोस्ट ऑफिस को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली। 1863 में रेल डाक सेवा की शुरुआत हुई।
  • 1873 में नक्काशीदार लिफाफे की बिक्री आरंभ हुई। 1876 में भारत पार्सल पोस्टल यूनियन में शामिल हुआ।
  • 1877 में वीवीवी और पार्सल सेवा की शुरुआत की गई है। 1879 में पोस्ट कार्ड अस्तित्व में आया।
  • 1890 में मनीआर्डर की व्यवस्था शुरू हुई। इसे क्रांतिकारी बदलाव माना गया। लोग भारत में एक से दूसरी जगह पर रुपये भेज सकते थे।
  • 1911 में प्रथम एयरमेल सेवा की शुरुआत हुई। यह सेवा इलाहाबाद से नैनी के बीच शुरू हुई थी। नैनी इलाहाबाद का ही एक औद्योगिक कस्बा है।
  • 1935 में इंडियन पोस्टल आर्डर की शुरुआत हुई।
  • 1972 में पिन कोड की व्यवस्था शुरू की गई। 1984 में डाक विभाग ने जीवन बीमा के क्षेत्र में कदम रखा।
  • 1985 में पोस्ट ऑफिस और टेलीकाम डिपार्टमेंट अलग-अलग किए गए।
  • 1986 में स्पीड पोस्ट सेवा की शुरुआत की गई है। 1990 में डाक विभाग ने मुंबई व चेन्नई में दो स्वचालित डाक प्रसंस्करण केंद्र स्थापित किए।
  • 1995 में ग्रामीण डाक जीवन बीमा की शुरुआत हुई। 1999 में डाटा डाक व एक्सप्रेस डाक सेवा की शुरुआत की गई।
  • 2000 में ग्रीटिंग पोस्ट सेवा आरंभ। 2001 में इलेक्ट्रानिक फंड ट्रांसफर सेवा शुरू।
  • 10 अगस्त 2004 में लोजिस्टिक पोस्ट सेवा की शुरुआत की गई।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

आरपीएससी सीनियर टीचर भर्ती 2020 । Rpsc senior teacher recruitment 2020 in Hindi

राजस्थान लोक सेवा आयोग की सीनियर टीचर ग्रेट-2 भर्ती के लिए काउंसिलिंग तिथि जारी कर …