Home / sarkari naukri / रेलवे ग्रुप डी भर्ती 2019 । Railway Group D Jobs 2019

रेलवे ग्रुप डी भर्ती 2019 । Railway Group D Jobs 2019

रेलवे ग्रुप डी भर्ती की तैयारी कर रहे हैं तो एग्जाम को पास करने के तरीके के बारे में भी जानना बहुत जरूरी है। ग्रुप डी का लिखित परीक्षा को पास करना बहुत कठिन तो नहीं लेकिन आसान भी नहीं है। बस इसके लिए आपको बेहतर प्लानिंग करनी होगी और कोश्चयन पेपर पर नजर रखनी होगी। आज हम आपको Railway Group D Jobs 2019 और कोश्चयन पेपर के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

online exam

रेलवे ग्रुप डी 2019 भर्ती की जानकारी । Railway Group D Jobs 2019

  • रेलवे ग्रुप डी की भर्ती के लिए जानकारी समय समय पर आरआरबी की ऑफिशियल वेबसाइट पर आती रहती है। सूचना रोजगार समाचार में भी प्रकाशित करवाई जाती है।
  • अभ्यर्थियों को ऑफिशियल वेबसाइट और रोजगार समाचार पर पैनी निगाह रखनी होगी। भर्ती हर बोर्ड की अलग-अलग जारी होती है। आप ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते हैं।
  • आवेदन की अंतिम तारीख की जानकारी भी वेबसाइट पर दी जाती है। ऑनलाइन आवेदन करके आप व्यर्थ की भागदौड़ से बच जाएंगे।
  • आवेदन के बाद ही वेबसाइट पर एडमिट कार्ड के जारी होने की सूचना भेजी जाएगी। आप ऑनलाइन ही एडमिट कार्ड डाउनलोड कर परीक्षा देने के लिए जा सकते हैं।
  • आपको परीक्षा के दौरान एक अन्य पहचान पत्र भी साथ रखना होगा। ऑनलाइन आवेदन के वक्त फोटो व सिग्नेचर स्कैन करके डालना होगा।

एग्जाम पास करने के लिए उठाएं यह कदम

रेलवे ग्रुप डी एग्जाम को क्लीयर करने का सबसे अच्छा तरीका है आब्जेक्टिव कोश्चयन पर फोकस करना। कोश्चयन किस तरह के आते हैं, इसकी एक झलक हम आपको देते हैं। इससे आपको आइडिया मिल जाएगा। हाल के एग्जाम में कुछ इस तरह के सवाल पूछे गए थे।

1-कैल्शियम एल्युमिनेट तथा कैल्शियम सिलिकेट का मिश्रण क्या कहलाता है?

A-ग्लास, B-सीमेंट, C-कंक्रीट, D-गारा

2-डेसिबल इकाई का प्रयोग क्या मापने में होता है?

A- प्रकाश, B-ध्वनि, C-भूकंप, D-चारों में से कोई नहीं

3- किसके शासनकाल के दौरान मंत्रिपरिषद को अष्टप्रधान मंडल कहा जाता था?

A-मराठा काल, B-मौर्य काल, C-काकातिय काल, D-गुप्त काल

4- भारत का मुख्य कानून अधिकारी कौन है?

A- सचिव कानून विभाग, B- एटार्नी जनरल, C- एडवोकेट जनरल, D – सॉलिसिटर जनरल

  • तो अब बताइए कैसा लगा। झटका लगा न। आपको विश्वास ही नहीं होगा कि ग्रुप डी के एग्जाम में भी इस तरह के उलझाने वाले सवाल पूछे जाते हैं। तो बहुत परेशान की जरूरत नहीं है। सब्जेक्ट पर फोकस कर आप सारी समस्याओं का समाधान निकाल लेंगे। यह कोई बहुत टिपिकल नहीं है।
  • आपके कोर्स से थोड़ा अलग जरूर है। आपने इस सब सवालों में कुछ को पहले पढ़ा भी होगा लेकिन एग्जाम की दृष्टि से नहीं। इसलिए सवाल उलझाने वाले लग सकते हैं। अगर आपने सब्जेक्ट पर कायदे से फोकस किया होगा तो दिक्कत नहीं होगी। इसलिए पहले ग्रुप डी के सिलेबस के बारे में जानें। इसके बारे मेें आपको जानकारी किसी पुराने परीक्षार्थी या आरआरबी की वेबसाइट से मिल जाएगी।
  • ग्रुप डी के एग्जाम से रिलेटेड स्टडी मैटीरियल भी मार्केट में अवलेबल है। आप पुरानी परीक्षाओं के पेपर्स को भी उठाकर देख सकते हैं। इससे आपका विजिन क्लीयर हो जाएगा कि तैयारी किस तरह से करनी है। एक बात गांठ बांध लें। कहने को यह ग्रुप डी का एग्जाम है लेकिन इसमें बैठने वाले बीटेक से लेकर आर्ट्स के स्कॉलर्स तक होते हैं। आपको उनसे टक्कर लेनी है।

ऐसे करें टाइम मैनेजमेंट

ग्रुप डी की तैयारी के लिए छह महीने ही काफी हैं लेकिन इस टाइम पीरियड में यह तभी संभव होगा जब आपने टाइम मैनजमेंट सही से किया होगा। जिस सब्जेक्ट में आप वीक हैं, उसको ज्यादा समय दें। जिस सब्जेक्ट को आपने पहले से पढ़ रखा है, उस पर कम समय दें। एक बात और ध्यान रखें कि आरआरबी में ऐसे सवाल भी पूछे जाएंगे जिसे आपने किसी स्कूली किताब में नहीं पढ़ा होगा।

सबसे ज्यादा फोकस जनरल नॉलेज पर रखें। इसमें हिस्ट्री, भूगोल, मैथ साइंस, जनरल स्टडी कुछ भी पूछा जा सकता है। कोई पक्के से यह नहीं कह सकता कि एग्जाम में क्या पूछा जाएगा। इसलिए ओवर ऑल तैयारी करें। एक बात और जान लें। आरआरबी ग्रुप डी के एग्जाम में सीधे आईएएस के सिलेबस से भी सवाल उठाकर पूछे जा सकते हैं।

इसलिए कुछ भी महत्वपूर्ण नहीं हैं और सब कुछ महत्वपूर्ण हो सकता है। इसलिए तैयारी करें। दिन में कम से कम छह घंटे का समय निकालें। तीन घंटे जनरल नॉलेज को बढ़ाने में लगाएं। यह सब आपको दूसरी परीक्षाओं में भी काम आएगा। करेंट अफेयर पर भी पकड़ होनी जरूरी है। पता नहीं आज कल में हुई कौन सी घटना आपको सवाल के रूप में ग्रुप डी के एग्जाम में मिल जाए।

इसलिए हर चीज पर गंभीरता से ध्यान दें। एक घंटे रिवीजन के लिए निकाल कर रखें। आपने आज जो कुछ भी पढ़ा है, उसका कल नए चैप्टर को शुरू करने के पहले एक बार रिवाइज जरूर करें। इसमें अपने परिवार वालों व दाेस्तों की मदद लेने से बिल्कुल भी न हिचकें।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

ies admit card

आईईएस एडमिट कार्ड । IES admit card

यूपीएससी की भारतीय आर्थिक सेवा यानी आईईएस परीक्षा के लिए ऑनलाइन एडमिट कार्ड हासिल करना …