Home / sarkari naukri / आरआरबी ग्रुप डी भर्ती 2020 । RRB Group D Recruitment 2020

आरआरबी ग्रुप डी भर्ती 2020 । RRB Group D Recruitment 2020

आज की डेट में सबसे अधिक मारामारी सरकारी नौकरी की है। देश की आबादी बढ़ती जा रही है और सरकारी नौकरियां कम होती जा रही हैं। नौकरियां तो कम हैं लेकिन अगर आप तैयारी साइंटिफिक तरीके से करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी। आज हम आपके सामने आरआरबी ग्रुप डी की भर्ती प्रक्रिया की जानकारी लेकर आए हैं। आपको RRB Group D Recruitment 2020 की पूरी जानकारी विस्तार से दी जाएगी।

rrb

हम आपको बताएंगे कि रेलवे में ग्रुप डी के कितने तरह के पद होते हैं, इनकी भर्ती कैसे होती है और इसके लिए मिनिमम क्वालिफिकेशन कितनी होनी चाहिए। इसके अलावा रेलवे ग्रुप डी में भर्ती के लिए और कौन-कौन सी चीजों की जरूरत होती है, इसकी भी जानकारी दी जाएगी।

रेलवे ग्रुप डी भर्ती 2020 की पूरी जानकारी । Railway Group D Recruitment 2020

  • रेलवे ही एक मात्र ऐसा विभाग है जहां पर एक ही ग्रुप के पदों के लिए अलग-अलग शैक्षणिक योग्यता का निर्धारण है। कुछ पद टेक्निकल होते हैं तो कुछ नॉन टेक्निकल।
  • नॉन टेक्निकल पदों के लिए 10+2 होना जरूरी है। बाकी के पदों के लिए आईटीआई प्रशिक्षित भी होना जरूरी है।
  • रेलवे में ऑफिस के चपरासी व पोर्टर को छोड़कर बाकी के पद तकनीकी श्रेणी में आते हैं। जैसे गेटमैन, वेल्डर, कैबिन मैन, हेल्पर इंजीनियरिंग व मैकेनिकल।
  • इंटर पास व्यक्ति इन सारे कार्यों को नहीं कर सकता। इसलिए आईटीआई सर्टिफिकेट की बाध्यता लगा दी गई है।
  • जो लोग ग्रुप डी की तैयारी करना चाहते हैं, वे पहले अपने ट्रेड पर फोकस करें। 10वीं व 12वीं के साथ ही आईटीआई में भर्ती के लिए तैयारी शुरू कर दें।
  • रेलवे की परीक्षा में बैठने के पहले आईटीआई में दाखिला लेकर प्रशिक्षण व सर्टिफिकेट प्राप्त करें। बिना आईटीआई सर्टिफिकेट के रेलवे के ग्रुप डी में भर्ती का कोई चांस नहीं है।
  • रेलवे के ग्रुप डी के सभी पदों के लिए न्यूनतम आयु का निर्धारण कर दिया गया है। 18 वर्ष से कम आयु का कोई भी व्यक्ति ग्रुप डी एग्जाम के लिए अल्पाई नहीं  कर सकता है। अधिकतम आयु की सीमा पदों के हिसाब से अलग-अलग है।
  • कुछ पदों पर अधिकतम आयु की सीमा 32 वर्ष निर्धारित की गई है। इससे अधिक आयु हो जाने पर ग्रुप डी की भर्ती परीक्षा में नहीं बैठा जा सकता है। कुछ पदों पर अधिकतम आयु 30 वर्ष है। अधिकतम आयु की जानकारी आपको फार्म के साथ ही मिलेगी।
  • रेलवे के ग्रुप डी पदों के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर भर्ती की सूचना समय-समय पर आती रहती है। अब रेलवे की सारी भर्ती ऑनलाइन ही होती है।
  • आवेदकों को फार्म को वेबसाइट पर ही भरना होगा और ऑनलाइन ही परीक्षा शुल्क का भुगतान भी करना होगा।
  • अभ्यर्थी बैंक चालान के माध्यम से भी फीस का भुगतान कर सकते हैं। उनको चालान को आरआरबी के कार्यालय पर भेजना पड़ता है।

पद

  1. ट्रैक मैन
  2. गेट मैन
  3. प्वाइंट्स मैन
  4. हेल्पर इन मैकेनिकल
  5. हेल्पर इन इंजीनियरिंग
  6. पोर्टर
  7. गैंगमैन
  8. फिटर
  9. केबिन मैन
  10. वेल्डर

आवश्यक प्रमाण पत्र

  1. फोटो
  2. शैक्षणिक प्रमाण पत्र
  3. बैंक का चालान
  4. पते का प्रमाण पत्र
  5. पहचान का प्रमाण पत्र

ग्रुप डी चयन प्रक्रिया

  • रेलवे ग्रुप डी चयन प्रकिया के लिए चार चरण निर्धारित किए गए हैं। इसमें लिखत परीक्षा, मेडिकल टेस्ट, प्रमाण पत्रों की जांच और मेरिट लिस्ट की घोषणा होती है। सारी प्रक्रियाओं के बारे में आपको विस्तार से बताते हैं।
  • रेलवे ग्रुप डी के लिए अभ्यर्थियों को सबसे पहले लिखित परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। लिखित परीक्षा आब्जेक्टिव होती है। लिखित परीक्षा की मेरिट तैयार की जाती है।
  • इसके बाद कटऑफ का निर्धारण होता है और अभ्यर्थी को अगले चरण में मेडिकल परीक्षण के लिए भेजा जाता है।
  • लिखित परीक्षा 100 अंकों की होती है। इसमें सामान्य ज्ञान, मैथ, जनरल स्टडी व साइंस से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं। इसके साथ ही सामान्य विज्ञान, भूगोल, कृषि व कंप्यूटर से रिलेडेट प्रश्न भी पूछे जा सकते हैं।
  • लॉजिकल सवालों से भी परीक्षार्थियों का सामना पड़ सकता है।
  • परीक्षा के अगले चरण में अभ्यर्थियों के स्वास्थ्य का परीक्षण भी करवाया जाता है। कुछ पदों के लिए अभ्यर्थियों से दौड़ भी लगवाई जाती है और वजन भी उठवाया जाता है। कुछ काम ऐसे होते हैं जिसमें अभ्यर्थियों को सामान को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाना होता है।
  • कुछ पदों के लिए पहले मेडिकल व फिजिकल व टेस्ट लिया जाता है। तय समय में दौड़ पूरी करने व वजन का टेस्ट पास करने वालों को ही लिखित परीक्षा में भेजा जाता है। अभ्यर्थी को तीन से लेकर 10 किमी तक की दौड़ करवाई जाती है। महिलाओं को कम दौड़ना पड़ता है।
  • इसलिए अगर आप रेलवे ग्रुप डी के लिए आवेदन करने जा रहे हैं तो दौड़ने व वजन उठाने की प्रैक्टिस अच्छी तरह से करें। अगर शारीरिक रूप से कमजोर निकले तो चयन प्रक्रिया से बाहर कर दिया जाएगा।
  • लिखित परीक्षा व मेडिकल और फिजिकल टेस्ट की प्रक्रिया पूरी होने के बाद शैक्षणिक प्रमाण पत्रों की जांच होती है। अभ्यर्थियों को फार्म के साथ ही सारे सर्टिफिकेट की फोटो कॉपी अटैच करनी होती है।
  • बाद में उनको ओरिजनल प्रमाण पत्रों के साथ उपस्थित होना पड़ता है।
  • सत्यापन के लिए संबंधित संस्थानों व शैक्षणिक बोर्ड को रेलवे भर्ती बोर्ड की ओर से पत्र भी भेजा जाता है। वहां से सत्यापन रिपोर्ट आने के बाद आगे की प्रक्रिया शुरू होती है। टेक्निकल पदों के लिए आईटीआई के सर्टिफिकेट की जरूरत पड़ती है।
  • जब प्रमाण पत्रों की जांच हो जाती है तो मेरिट के आधार पर रेलवे ग्रुप डी की भर्ती परीक्षा का रिजल्ट डिक्लेयर करता है। रिजल्ट मेरिट के आधार पर तैयार किया जाता है।
  • जितने पदों के लिए परीक्षा आयोजित की जाती है, उसके लिए सबसे अधिक अंक पाने वालों को सफल घोषित किया जाता है।
  • अगर कोई अभ्यर्थी निर्धारित अवधि में ज्वाइन नहीं करता है तो मेरिट को कम करके फिर से अभ्यर्थियों की सूची जारी की जाती है।
  • यह प्रक्रिया तब तक चलती है जब तक कि सारे लोग ज्वाइन न कर लें। सफलता के लिए हर क्षेत्र में अभ्यर्थी का पारंगत होना जरूरी है। फिजिकल रूप से और मेंटल रूप से भी। अगर आप भर्ती परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो इन बातों को ध्यान में रखें।

About Mohd. razi

हिंदी पत्रकारिता में 14 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में काफी वक्त दिया।

Check Also

आरपीएससी सीनियर टीचर भर्ती 2020 । Rpsc senior teacher recruitment 2020 in Hindi

राजस्थान लोक सेवा आयोग की सीनियर टीचर ग्रेट-2 भर्ती के लिए काउंसिलिंग तिथि जारी कर …