Home / sarkari naukri / एसएससी जेई सिलेबस 2020 । SSC JE syllabus 2020

एसएससी जेई सिलेबस 2020 । SSC JE syllabus 2020

एसएससी जेई के लिए आपकी योग्यता क्या है? एग्जाम का पैटर्न और सिलेबस क्या है? एग्जाम की तैयारी कैसे करें? इस तरह के तमाम सवाल हैं, जिनको लेकर अभ्यर्थी परेशान रहते हैं। हम आपको इन सभी चीजों के बारे में बताएंगे, जिसकी वजह से एसएससी जेई एग्जाम की तैयारी करना आसान हो जाएगा। हम आपको एसएससी जेई सिलेबस 2020 के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

एसएससी जेई सिलेबस 2020 की पूरी जानकारी । SSC JE syllabus 2020

  • स्टाफ सेलेक्शन कमीशन यानि एसएससी द्वारा जेई एग्जाम का आयोजन किया जाता है। परीक्षा का आयोजन सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, मात्रा सर्वेक्षण और अनुबंध के लिए किया जाता है। परीक्षा के लिए अधिसूचना भी आयोग द्वारा ही जारी किया जाता है।
  • एसएससी जेई की परीक्षा क्लियर करने के लिए रीजनिंग पर ध्यान देना जरूरी है। रीजनिंग के लिए बाजार में ढेर सारी किताबें हैं, जिन्हें आप खरीद सकते हैं।
  • परीक्षा में आमतौर पर पिछले दस साल के घटनाक्रम पर फोकस किया जाता है। इसलिए आप ऐसी किताबें हासिल कर सकते हैं, जिनमें रीजनिंग से जुड़े पिछले दस साल के प्रश्नपत्र शामिल हों।
  • एसएससी परीक्षा पास करने के लिए अंग्रेजी का ज्ञान होना जरूरी है। परीक्षा में अंग्रेजी सामान्य से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं। पूरा फोकस ग्रामर पर होता है।
  • रिक्त स्थान को भरना, वाक्य में गलती ढूंढना, पर्यायवाची, मुहावरे, वाक्यांश, वाक्य में सुधार करना, प्रीपोजीशन का इस्तेमाल करना, कंजक्शन से जुड़ी चीजों को ठीक करना होता है।
  • एसएससी जेई परीक्षा के लिए नंबर सिस्टम, बीजगणित, रेखागणित, क्षेत्रमिति, त्रिकोणमिति, सांख्यिकी चार्ट जैसी चीजों पर ध्यान देना होगा।
  • संख्यात्मक अभियोग्यता से जुड़े इन सभी विषयों की जानकारी अच्छी तरह होनी चाहिए। छात्रों को स्कूल टाइम में ये सभी चीजें पढ़ाई जाती हैं। उन्हें फिर से रीकॉल करने की जरूरत है।
  • एसएससी जेई परीक्षा में सामान्य जागरूकता से जुड़े सवाल भी पूछे जाते हैं। इसलिए इसे पैटर्न में शामिल किया गया है। इस विषय में देश, दुनिया से जुड़े सामान्य सवाल पूछे जाते हैं, जिनकी जानकारी होना आवश्यक है।
  • इतिहास, संस्कृति, भूगोल के अलावा सामान्य नीति और वैज्ञानिक अनुसंधान से जुड़ी चीजें शामिल हैं।
  • एसएससी जेई एग्जाम में दो पेपर होते हैं। पहले पेपर के सवालों को हल करने के लिए एक घंटे का समय दिया जाता है, जबकि दूसरे पेपर के सवालों को हल करने के लिए दो घंटे का समय दिया जाता है।
  • परीक्षा में माइनेस मार्किंग भी होती है। अगर आपने गलत जवाब लिख दिया तो नंबर कट जाएंगे। लिखित परीक्षा ऑफलाइन मोड में होती है। यह परीक्षा अधिकतम 300 अंकों की होती है, जिसके लिए दो घंटे का समय दिया जाता है।
  • अगर आप एसएससी की तैयारी करने के मूड में हैं तो आपके लिए जरूरी है कि आप सबसे पहले एग्जाम के पैटर्न को समझें। सिलेबस को समझें।
  • एग्जाम फार्मेट से जुड़े नोट्स तैयार करें। सिलेबस की जानकारी हासिल करें। बिना सिलेबस तैयार करें परीक्षा को क्लियर करना मुश्किल है।
  • अगर आप एसएससी की परीक्षा क्लियर करना चाहते हैं तो आपके लिए जरूरी है कि सबसे पहले टाइम टेबल बनाएं। आधी-अधूरी तैयारी और बेतरतीब ढंग से की गई पढ़ाई असरदार नहीं होगी। आप भटक जाएंगे और इसकी वजह से परीक्षा पास करना मुश्किल हो जाएगा।
  • आप टाइम टेबल तैयार कर सकते हैं। आप अपनी योग्यता के हिसाब से पढ़ाई का समय तय करें। अगर आपको लगता है कि दिन में छह घंटे की पढ़ाई आपके लिए काफी है तो इन छह घंटों को रात और दिन के अलग-अलग पहर में बांट लें। इससे दिमाग में फ्रेशनेस बरकरार रहती है।
  • अगर आप एसएससी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए जरूरी है कि अखबार पढ़ने की आदत डालें। करेंट अफेयर्स के लिए अखबार की स्टडी बेहद अहम है।
  • भारत में क्या हो रहा है। विश्व में क्या हो रहा है। प्रदेश और अलग-अलग शहरों से जुड़ी चीजें अखबारों में छपती हैं, जो आपको परीक्षा की तैयारी करने में मदद दे सकती हैं।
  • आपको इंटरनेट की दुनिया से भी जुड़े रहना होगा। अब चूंकि ढेर सारे ऑनलाइन पोर्टल आ गए हैं, जो आपको दुनिया भर की खबरों से रूबरू कराते हैं, इसलिए इंटरनेट फ्रेंडली रहना जरूरी है।
  • ऑफिशियल और अथेटिंक साइट्स से मिली जानकारी पर ही ज्यादा ध्यान दें। इसके अलावा इंटरनेट पर ऐसी ढेर सारी एप्लीकेशन हैं, जो परीक्षा के लिए मॉक टेस्ट लेती हैं, जिसका हिस्सा बनकर आप अपनी तैयारी का आकलन आसानी के साथ कर सकते हैं।
  • कर्मचारी चयन आयोग ने जेई एग्जाम के लिए पात्रता भी तय की है। परीक्षा में सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री हासिल करने वाले अभ्यर्थी शामिल हो सकते हैं।
  • परीक्षा दो सेटों में होती है। परीक्षा का पहला पेपर कंप्यूटर मोड में आयोजित होता है, जबकि दूसरा पेपर लिखित परीक्षा से जुड़ा हुआ होता है।
  • एसएससी जेई परीक्षा में बैठने के बाद अभ्यर्थियों को दो पेपर देना होता है। पहला पेपर अधिकतम 200 अंकों का होता है, जबकि दूसरा पेपर अधिकतम 300 अंकों का होता हे।
  • दोनों पेपर को हल करने के लिए दो घंटे का समय दिया जाता है। उम्मीदवारों के चयन के लिए साक्षात्कार की बाध्यता नहीं है। अंतिम चयन रैकिंग पर ही आधारित है।
  • जेई यानी जूनियर अभियंता पद के लिए आवेदन करने वाले के पास सिविल एंड इलेक्ट्रिकल, सीपीडब्लयूडी सिविल या इलेक्ट्रिक या फिर मैकेनिकल में डिप्लोमा होना चाहिए।
  • डिप्लोमा केंद्र सरकार या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से ही होना चाहिए। गैर मान्यता प्राप्त संस्थानों से पढ़ाई करने वाले छात्रों को इस परीक्षा में बैठने की अनुमित नहीं दी जाएगी।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

rsmssb

आरएसएमएसबी फार्मासिस्ट भर्ती 2019 । RSMSSB Pharmacist Recruitment 2019

राजस्थान कर्मचारी चयन आयोग यनि आरएसएमएसएसबी ने फार्मासिस्ट के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए …