Home / sarkari naukri / यूपीपीएससी रजिस्ट्रेशन 2020 । UPPSC registration 2020

यूपीपीएससी रजिस्ट्रेशन 2020 । UPPSC registration 2020

उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग अभ्यर्थियों को तमाम तरह की सुविधाएं मुहैया करा रहा है। अलग-अलग परीक्षाओं के लिए किए गए आवेदन के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर मालूम करने की प्रक्रिया भी आसान हो गई है। रजिस्ट्रेशन नंबर जानने के लिए अभ्यर्थियों को यूपीपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा। अब आप UPPSC registration 2020 के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल कर लीजिए।

uppsc

यूपीपीएससी रजिस्ट्रेशन 2020 की पूरी जानकारी । UPPSC registration 2020

  • अगर आपने यूपीपीएससी की किसी भी परीक्षा के लिए आवेदन किया है तो आप अपना रजिस्ट्रेशन नंबर हासिल कर सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन नंबर हासिल करने के लिए अभ्यर्थियों को यूपीपीएससी की अफीशियल वेबसाइट को ओपन करना होगा।
  • वेबसाइट पर विजिट करने के बाद बाई तरफ रजिस्ट्रेशन नंबर का ऑप्शन दिखाई देगा, जहां क्लिक करना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन नंबर पर क्लिक करते ही सर्च फॉर रजिस्ट्रेशन नंबर के नाम से एक पेज खुल जाएगा, जिसको ध्यानपूवर्क पढ़ने की जरूरत है।
  • पेज पर अलग-अलग कैटिगरी के नाम से कई कॉलम दिखाई देंगे। यहां सबसे पहले कैंडीडेट फुल नेम का ऑप्शन दिखाई देगा।
  • अभ्यर्थी इस ऑप्शन पर क्लिक कर अपना अपना पूरा नाम लिखें। इसके बाद दूसरे कॉलम में पिता या पति का नाम लिखना होगा।
  • इसी तरह तीसरे कॉलम में डेट ऑफ बर्थ यानी जन्मतिथि लिखना होगा। जन्मतिथि को क्रम संख्या के अनुसार लिखें।
  • पहले कॉलम में डे यानी दिन, दूसरे कॉलम में मंथ यानी महीना और तीसरे कॉलम में ईयर यानी साल लिखना होगा।
  • डेट ऑफ बर्थ लिखने के बाद अभ्यर्थियों को इसके ठीक नीचे एक कॉलम दिखाई देगा, जहां इंटर वेरिफिकेशन कोड लिखा होगा।
  • परीक्षार्थियों को इस कॉलम पर क्लिक कर अपना वैरिफिकेशन कोड लिखना होगा। इसके बाद उन्हें सर्च के नाम से एक ऑप्शन दिखाई देगा।
  • सर्च का ऑप्शन वेरिफिकेशन कोड के ठीक नीचे होता है। अभ्यर्थी यहां सर्च के ऑप्शन पर क्लिक कर रजिस्ट्रेशन नंबर हासिल कर सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन नंबर हासिल करने के बाद अभ्यर्थी क्लोज के ऑप्शन पर क्लिक कर इसे बंद कर सकते हैं।
  • इसी तरह अगर आपको परीक्षाओं का परिणाम देखना हो या फिर परीक्षाओं के लिए आवेदन करना हो, यूपीपीएससी की अफीशियल वेबसाइट पर विजिट कर सभी तरह के प्रोसेस को पूरा कर सकते हैं।
  • एग्जाम के लिए आवेदन शुल्क भी ऑनलाइन जमा किए जा रहे हैं, जो एक तरह से पॉजीटिव चेंज है। ऑनलाइन पेमेंट की वजह से लोगों को काफी राहत मिली है।
  • खासकर उन युवाओं को, जो दूसरे शहर या फिर कस्बों और गांवों में रहते हैं। उन्हें अब परीक्षा के लिए फार्म भरने और आवेदन शुल्क जमा करने के लिए यूपीपीएससी के हेड ऑफिस आने की जरूरत नहीं पड़ती है।
  • उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग छोटी-बड़ी कई परीक्षाओं का आयोजन करता है। परीक्षाओं में सफल अभ्यर्थियों की नियुक्ति प्रदेशीय विभागों में की जाती है।
  • रिक्त पदों को तो भरा जाता ही है, नए पदों पर भी तैनाती की जाती है, ताकि राज्य सरकार के काम-काज को प्रभावी ढंग से आगे बढ़ाया जा सके।
  • इसी तरह उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं के लिए योग्यता भी तय कर दी गई है। यूपीपीएससी की परीक्षाओं में वही अभ्यर्थी हिस्सा ले सकते हैं, जिनके पास कम से कम स्नातक की डिग्री हो।
  • जिनके पास स्नातक की डिग्री नहीं है, वे परीक्षाओं में हिस्सा नहीं ले सकते हैं। इसी तरह परीक्षार्थियों के लिए भारत का मूल नागरिक होना जरूरी है।
  • यूपीपीएससी के एग्जाम्स के लिए अलग-अलग सिलेबस तय किए गए हैं। सीएसएटी यानी सिविल सेवा योग्यता परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को वर्तमान घटनाएं, इंडियन हिस्ट्री, वर्ल्ड जियोग्रॉफी, इनवायरमेंट, सामान्य विज्ञान, आर्थिक और सामाजिक विकास के साथ ही भारतीय राजनीति और शासन के बारे में अच्छी तरह से पढ़ना होगा।
  • इन विषयों पर अच्छी पकड़ रखने वाले अभ्यर्थियों के लिए परीक्षा पास करना आसान हो जाता है।
  • इसी तरह सी-सैट के लिए वर्तमान घटनाएं, तार्किक तर्क और मानसिक योग्यता, सामान्य मानसिक योग्यता, भारत में हुए अलग-अलग आंदोलन, इंडियन हिस्ट्री, निर्णय लेना, समस्या सुलझाना, विवेक का इस्तेमाल कर देश और जनता के हित में फैसला लेना, जैसी योग्यता के आधार पर परीक्षा पास करना आसान हो जात है।
  • परीक्षार्थियों को सामान्य विज्ञान के बारे में भी पढ़ना चाहिए।  इसी तरह हिंदी, अंग्रेजी, गणित जैसे विषयों पर भी अच्छी पकड़ होना चाहिए, जिसकी वजह से परीक्षा में सफल होना आसान हो सकता है।
  • परीक्षार्थियों का सामान्य ज्ञान अच्छा होना चाहिए। उनके अंदर सही समय पर सही फैसला लेने की क्षमता हो। ब्रॉड माइंडेड अभ्यर्थी को माइलेज मिल सकता है।
  • माना जाता है कि देश का हर नागरिक जरूरी है। सरकारी योजनाएं कतार में सबसे पीछे लगे लोगों तक भी पहुंचनी चाहिए।
  • इस तरह की पॉजीटिव एप्रोच अभ्यर्थियों को इंटरव्यू में फायदा पहुंचा सकती है। यूपीपीएससी की परीक्षाओं के लिए आयोजित होने वाले साक्षात्कार के लिए 100 अंक तय किए गए हैं। साक्षात्कार में किसी खास पैटर्न को जगह नहीं दी गई है।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

आरपीएससी सीनियर टीचर भर्ती 2020 । Rpsc senior teacher recruitment 2020 in Hindi

राजस्थान लोक सेवा आयोग की सीनियर टीचर ग्रेट-2 भर्ती के लिए काउंसिलिंग तिथि जारी कर …