Home / Voter Id / यूपी में कैसे बनवाएं वोटर आईडी कार्ड | How to apply for voter id card in up in hindi

यूपी में कैसे बनवाएं वोटर आईडी कार्ड | How to apply for voter id card in up in hindi

up portal

आप उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं तो वोटर लिस्ट में नाम जरूर होना चाहिए। अगर अब तक आपने नाम नहीं जुड़वाया है तो देरी न करें। आप वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाकर जल्द से जल्द वोटर आईडी कार्ड हासिल कर लें।

यूपी में ऐसे बनवाएं वोटर आईडी कार्ड

राज्य निर्वाचन आयोग ने यूपी के लोगों की सहूलियत के लिए अलग पोर्टल बनाया है। इस पोर्टल पर आपको वोटर लिस्ट से लेकर पोलिंग बूथ तक की जानकारी मिलेगी। इस पोर्टल के जरिए आप अपना नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकते हैं।

आवेदन करने के दो तरीकें हैं। ऑनलाइन व ऑफलाइन। राष्ट्रीय मतदाता सेवा पोर्टल व यूपी इलेक्शन कमीशन की वेबसाइट आपकी दोनों तरीकों से फार्म भरने में मदद करेगी। हम वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने की प्रक्रिया के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। इसके लिए आपको यह कदम उठाने होंगे।

ऑनलाइन प्रक्रिया

सबसे पहले उत्तर प्रदेश निर्वाचन अधिकारी के पोर्टल पर जाएं। मुख्यपेज में ऑनलाइन मतदाता पंजीकरण के ऑप्शन को क्लिक करें। यहां पर आपको स्टेटस चेक करने व नेम करेक्शन का ऑप्शन भी मिलेगी जिसकी जरूरत आपको बाद में पड़ सकती है।

  • ऑनलाइन आवेदन करने के पहले आपको पुरानी मतदाता सूची को चेक करना होगा। आपको यह पता होना जरूरी है कि नाम कहीं पहले से तो वोटर लिस्ट में नहीं जुड़ा हुआ है।
  • आप नाम, पिता या पति का नाम, उम्र और पते के कॉलम को भर देें। इसके बाद सबमिट का बटन क्लिक कर दें।
  • अगर आपका नाम पहले मतदाता सूची में होगा तो इसकी डिटेल आपके सामने आ जाएगी।
  • आपको अपना नाम लिस्ट में नहीं मिलता है तो आवेदन के सेक्शन में जाएं।
  • आवेदन करने के पहले आपको पहले निर्वाचन क्षेत्र, जिले का चयन करना होगा।
  • अगर आप पहली बार वेबसाइट का प्रयोग कर रहे हैं तो पहले आपको अपना नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, पता व पिनकोड को भर कर खुद को रजिस्टर करवाना होगा।
  • एक बार रजिस्टर हो जाने के बाद आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा। इसी पेज पर फार्म का सेक्शन भी आपको नजर आएगा। अगर नाम जुड़वाना है तो फार्म नंबर छह को ओपन करें और आखिर में ओटीपी भरें।
  • आपको फिर से नाम, पता, उम्र, परिवार के सदस्यों का विवरण दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको उम्र, पते व पहचान के प्रमाण पत्र को अपलोड करना होगा। अपनी रंगीन फोटो भी फार्म के साथ जरूर अपलोड करें।
  • अपलोड करने के बाद फार्म को सबमिट कर दें। आपको आवेदन नंबर मिल जाएगा। सबमिट करने के बाद आप फार्म का एक प्रिंट भी निकाल लें।
  • प्रिंट के साथ उम्र, पहचान व पते के प्रमाण पत्रों की फोटो स्टेट को अटैच करें और इसको डाक से अपने जिले के निर्वाचन अधिकारी को भेज दें।
  • आप खुद जाकर भी फार्म की हार्ड कॉपी प्रमाण पत्रों के फोटो स्टेट के साथ निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में जमा कर सकते हैं।
  • फार्म जमा करने के बाद रिसीविंग स्लिप नंबर न लेना भूलें।
  • आप इस रसीद के आधार पर ऑनलाइन ही चेक कर सकेंगे कि आपका नाम वोटर लिस्ट में जुड़ा है कि नहीं। यूपी की वेबसाइट आपकी इस काम में भी मदद करेगी।
  • नाम जुडऩे की सूचना आपको एसमएस के जरिए व ईमेल पर दे दी जाएगी

ऑफलाइन प्रक्रिया

  1. यूपी के अपने जिले के निर्वाचन अधिकारी के ऑफिस से फार्म नंबर 6 को प्राप्त करें।
  2. आप फार्म को हिंदी या अंग्रेजी में भर सकते हैं। अगर आपने अंग्रेजी का ऑप्शन चुना है तो सभी अक्षर कैपिटल में ही लिखें।
  3. फार्म में आपको, नाम, पता, पिता का नाम, उम्र को दर्ज करना होगा।
  4. आपको पहचान, पते व उम्र के प्रमाण पत्र को भी फार्म के साथ संलग्र करना होगा।
  5. फार्म को जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में जमा कर दें और इसकी रिसीविंग ले लें।
  6. फार्म जमा करने के बाद आपके एरिया का बीएलओ जांच करने के लिए आएगा।
  7. आप निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय से बीएलओ का मोबाइल नंबर हासिल कर उसको खुद भी फोन कर सकते हैं। इससे काम थोड़ा जल्दी हो जाएगा।

up portal

यह हैं फार्म

मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के अलावा किसी का नाम बढ़वाना, कटवना या उसमें सुधार करवाना हो तो भी वेबसाइट से आपको मदद मिलेगी। अगर आपको इस तरह का कोई काम हो तो भी निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय या वेबसाइट पर फार्म उपलब्ध हैं। कौन सा फार्म किस काम आता है, इसके बारे में भी जान लीजिए।

फार्म नंबर 6

फार्म नंबर 6 नए लोगों के लिए होता है। जिन लोगों का नाम अब तक मतदाता सूची में नहीं जुड़ा है, वे इसको भरें।

फार्म नंबर 7

इस फार्म की जरूरत ऑब्जेक्शन या नाम कटवाने के लिए पड़ती है।

फार्म नंबर 8

यह फार्म उन लोगों के लिए है जिनकी वोटर लिस्ट व वोटर आईडी में कोई गलती हो गई है। इसे भरकर वे विवरण को सुधरवा सकते हैं।

फार्म नंबर 8 ए

यह फार्म उन लोगों के लिए है जिनको प्रविष्टि में कोई चेंज करवाना हो। जैसे कि पता।

सिर्फ फार्म भर देने से आपका काम नहीं हो जाएगा। आपको इसके साथ नवीनत रंगीन फोटो, पते, पहचान का प्रमाण पत्र भी लगाना होगा। फार्म को भर देने के बाद सारे दस्तावेजों को इसके साथ अटैच करना होगा और जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में जमा करना होगा।

यूपी की वेबसाइट

यूपी के लोगों का सारा काम वेबसाइट पर हो जाएगा। इस वेबसाइट के जरिए नाम जुड़वाने, वोटर आईडी में सुधार करवाने के अलावा अपने आवेदन का स्टेटस भी चेक कर सकते हैं। इसी वेबसाइट पर आपको सारे फार्म भी मिलेंगे। फार्म को ऑनलाइन तो भरा जा ही सकता है, इसका प्रिंट निकालकर आप ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते हैं। आपको वोटर लिस्ट से संबंधित फार्म नंबर 6, 7, 8 व 8 ए फार्म के सेक्शन में जाकर चूज करने होंगे।

ऐसे पता लगाएं बूथ

अपने मतदान केंद्र व बूथ का पता लगाना और वोटर आईडी का स्टेटस पता करना भी बेहद आसान है। यूपी के मतदाताओं को इसके लिए 9212357123 मोबाइल नंबर पर एक मैसेज भेजना होगा। इस नंबर पर यूपीईआईसी टाइप करने के बाद वोटर आईडी नंबर भरना होगा। एसएमएस भेजने के कुछ ही देर बाद आपके पास मतदान केंद्र की पूरी डिटेल आ जाएगी।

आप टोल फ्री नंबर 1950 पर भी कॉल कर अपने बूथ का पता लगा सकते हैं। आप इस नंबर पर सुबह 10 से शाम बजे के बीच किसी भी कार्य दिवस में फोन कर अपने बूथ की जानकारी हासिल कर सकते हैं।

ऐसे करवाएं सुधार

उत्तर प्रदेश की वेबसाइट पर ही आप वोटर आईडी कार्ड से जुड़ी गड़बडिय़ों में सुधार करवा सकते हैं। इसके लिए आपको ऑनलाइन व ऑफलाइन आवेदन का विकल्प मिलता है। ऑनलाइन सुविधा काफी सरल है और आपका काम जल्द से जल्द हो जाएगा। आप फार्म नंबर आठ को ओपन करें। इसमें आपको बताना होगा कि गलती कहां पर है और सही चीज क्या है।

जैसे किसी के नाम की स्पेलिंग गलत है। उसको सही नाम भरना होगा। फिर से नीचे की तरफ नाम के कॉलम को टिक कर उसके आगे सही नाम भरना होगा। ऐसा ही पता, पिता का नाम, उम्र के मामले में भी करना होगा। अगर आप पहली बार ऑनलाइन सुविधा का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको अपना मोबाइल नंबर व ईमेल एडे्रस को रजिस्टर करवाना होगा।

इसके बाद नंबर व ईमेल पंजीकृत हो जाएगा। एक बार ऑनलाइन रजिस्टर होने के बाद आपको बार-बार अपना मोबाइल नंबर व ईमेल नहीं भरना होगा। आपको फार्म के साथ ही दस्तावेजों को ऑनलाइन ही अपलोड करना होगा। एक और जरूरी बात। अपनी नवीनतम रंगीन फोटो को लगाना न भूलें। यह बहुत जरूरी है।

प्रिंट भी निकाल सकते हैं

संशोधन का ऑनलाइन आवेदन करने के बाद आप फार्म नंबर का एक प्रिंट भी निकाल लें। प्रिंट का पीडीएफ ही निकालें। इसके साथ आपको सारे प्रमाण पत्रों की फोटो स्टेट भी लगानी होगी। इसे आप स्पीड पोस्ट के माध्यम से जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय को भेज दें। आप खुद जाकर भी संशोधन फार्म को जमा कर सकते हैं। आप खुद फार्म जमा करने जा रहे हैं तो इसकी रिसीविंग स्लिप लेना न भूलें। स्लिप पर आपको एक नंबर लिखा मिलेगा। इस नंबर के जरिए आप स्टेटस को ऑनलाइन चेक कर सकते हैं।

जानकारियां सही होनी चाहिए

आप जो भी प्रमाण पत्र लगा रहे हैं, उसमें किसी तरह की गलती नहीं होनी चाहिए। अगर फार्म और प्रमाण पत्र की स्पेलिंग में कोई अंतर हुआ तो यह रिजेक्ट हो जाएगा। अगर प्रमाण पत्र में भी कोई त्रुटि है तो आप इसको पहले सही करवा लें। ऐसा ही आपको फार्म नंबर 8 ए को भरते वक्त भी करना होगा। आप स्टेटस को इलेक्शन कमिशन ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर भी जाकर चेक कर सकते हैं।

एक जगह से ही भरें फार्म

एक बात को अच्छी तरह से जान लें। दो अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों से नाम जुड़वाने के लिए आवेदन न करें। अगर नाम किसी विधानसभा क्षेत्र में पहले से ही जुड़ा हुआ है तो पता चेंज करवाएं न कि नाम जुड़वाने के लिए आवेदन करें। फार्म हमेशा एक ही विधानसभा क्षेत्र से भरें। अगर दो जगह से कार्ड बनवाएंगे तो यह कानून का सीधा सीधा उल्लंघन है। आपके ऊपर सरकार को धोखा देने व धोखाधड़ी की धाराओं में एफआईआर दर्ज हो सकती है।

About Ashutosh Srivastava

हिंदी पत्रकारिता में 21 वर्ष का अनुभव। दैनिक जागरण और अमर उजाला में लंबा समय दिया।

Check Also

voter

वोटर लिस्ट में नाम कैसे सर्च करें । How to search name in voter list in hindi

पांच साल में एक बार ऐसा मौका आता है जब नेता आपके चरणों में होते …